DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मध्यमा की परीक्षा में 87.38 फीसदी छात्र पास

मध्यमा परीक्षा 2008 का रिाल्ट गुरुवार को एकेडेमिक काउंसिल में अध्यक्ष डॉ शालीग्राम यादव ने जारी किया। परीक्षा में 87.38 फीसदी विद्यार्थी पास हुए। कुल 3774 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी थी, जिसमें 274 फर्स्ट, 184सेकेंड और 1175 थर्ड हुए। पिछले वर्ष की तुलना में 7.41 फीसदी अधिक छात्र सफल रहे। सबसे अधिक छात्र पलामू प्रमंडल से सफल रहे। यहां पास होने वाले छात्रों का प्रतिशतीसदी रहा। कोल्हान से 0.सिंहभूम से 87.38, दक्षिणी छोटानागपुर से 0.70, उत्तरी छोटानागपुर से 85.4ीसदी, संताल परगना से 65.33, छात्र पास हुए। रांची से 635 छात्रों ने परीक्षा दी थी, जिसमें 64 फर्स्ट, 386 सेकेंड और 126 थर्ड हुए। हाारीबाग से 1छात्र परीक्षा में शामिल हुए, जिसमें 21 फर्स्ट, 120 सेकेंड और 38 थर्ड हुए। गिरिडीह से 537 छात्रों ने परीक्षा दी, जिसमें दो फर्स्ट, 108 सेकेंड और 313 थर्ड हुए।ड्ढr डॉ शालीग्राम यादव ने कहा कि संस्कृत की स्थिति झारखंड में खराब हो रही है। हर साल संस्कृत के विद्यार्थियों की संख्या घटती जा रही है। इसके लिए संस्कृत को बढ़ावा देने की जरूरत है। इस अवसर पर सचिव पोलिकार्प तिर्की, ओएसडी अरविंद विजय विलुंग और यूजीन मिंज उपस्थित थे।ड्ढr परीक्षा में 474 छात्र फेलड्ढr मध्यमा संस्कृत परीक्षा 2008 में देवघर से 401 छात्रों ने परीक्षा दी थी। जिसमें 13छात्र फेल हुए। रांची से 5हाारीबाग से 13, गिरिडीह से 112, धनबाद से 52, पलामू से 75, पश्चिमी सिंहभूम से 24 छात्र फेल हुए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मध्यमा की परीक्षा में 87.38 फीसदी छात्र पास