DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुलायम व मायावती डर रहे हैं चोल चााने से

भारतीयोनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. रमापति राम त्रिपाठी ने गुरुवार को केन्द्र पर निशाना साधा। उन्होंने न्यूक्िलयर डील को गलत करार दिया। उन्होंने साफ किया उत्तर प्रदेश में भाापा अकेले चुनाव लड़ेगी। इस बात को हरी झंडी प्रदेश कार्य समिति और केन्द्रीय नेतृत्व ने दे दी है।ड्ढr डॉ. त्रिपाठी प्रदेश भाापा कार्यालय में संवाददाताओं से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा कि देश का राानीतिक परिदृश्य बहुत तेाी से बदल रहा है। इस बदलते परिदृश्य में भाापा अपना रोल अदा करगी। उन्होंने कहा कि माया और मुलायम की सरकारं एक सी रही हैं। प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती और मुलायम सिंह यादव दोनों ही आय से अधिक धन के मामले में फँसे हुए हैं। दोनों की सरकारों में कानून- व्यवस्था पूरी तौर से ध्वस्त होोाती है। भ्रष्टाचार चरम पर पहुँचोाता है। अल्प संख्यकों की तुष्टीकरण नीति शुरू कर दीोाती है। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि बसपा सरकार में सर्वान सुखाय नीति के स्थान पर कुछ खास लोगों के लिए ही योनाएँ चलाईोा रही हैं। करीब ढाई सौ संस्कृत विद्यालयों और डेढ़ सौ मदरसों के लिए अनुदान दियाोाना था, लेकिन मिला केवल मदरसों को।ड्ढr संस्कृत विद्यालयों को कुछ नहीं हासिल हुआ। उन्होंने कहा कि ऐसी सरकारों से स्वच्छ शासन और प्रशासन की उम्मीद नहीं कीोा सकती है। सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने कांग्रेस को समर्थन देकर लोहिया के विचारों को ठेंगा दिखाया है। मुलायम सिंह यादव ोलोाने से बचने के लिए कांग्रेस सरकार के साथ गए हैंोबकि मुख्यमंत्री मायावती भी ोलोाने से बचने के लिए पुराोर कोशिश कर रही हैं। उन्होंने कहा कि भाापा प्रदेश की बसपा सरकार द्वारा भ्रष्टाचार संस्थागत बनाने और केन्द्र सरकार के हाल में लिए गए निर्णयों और आतंकवाद के खिलाफोनाागरण अभियान शुृरू करने का निर्णय लिया है। यह अभियान नौ अगस्त से शुरू होगा और 23 अगस्त तक चलेगा। इस अभियान में ब्लॉक, तहसील औरोिला स्तर परोुलूस निकालेोाएँगे,ोन सभाएँ होंगी। इसके बाद काशी, गोरखपुर, गााियाबाद, आगरा, गोंेडा और बरली में बड़ी रैलियाँ होंगी। काशी की रैली 28 अगस्त को होगी और गााियाबाद में 2 सितम्बर को रैली होगी। ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मुलायम व मायावती डर रहे हैं चोल चााने से