DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डाक्टरों के तबादले पर फिलहाल रोक

सूबे में भारी बारिश एवं बाढ़ की आशंका को देखते हुए राज्य सरकार ने डाक्टरों का तबादला अगले आदेश तक स्थगित कर दिया है। बारिश के बाद उत्पन्न होने वाली बीमारियों की आशंका को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने निर्णय किया कि जून के अंतिम सप्ताह में जिन डाक्टरों का तबादला किया गया था उनमें अब तक जो डाक्टरों अपने पुराने स्थान पर काबिज हैं वे अगले आदेश तक वहीं रहेंगे। इससे जून में स्थानांतरित सैकड़ों डाक्टर प्रभावित होंगे। इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग ने यह भी निर्णय किया है कि जिन बाकी 26 जिलों में पांच साल से जमे डाक्टरों का स्थानांतरण किया जाना है उनमें सभी की च्वायस पोस्टिंग की जाएगी।ड्ढr ड्ढr सभी डाक्टरों से च्वायस पोस्टिंग का आवेदन लिया जाएगा और उसी के आधार पर प्राथमिकता एवं वरीयता का निर्धारण करते हुए डाक्टरों का तबादला किया जाएगा। इसके पूर्व मामले के संज्ञान में आने के बाद स्वास्थ्य विभाग में प्रतिनियुक्ित के नाम पर जारी तबादला पर भी स्वास्थ्य मंत्री ने रोक लगायी थी। उन्होंने पहले चरण में पटना जिला में पदस्थापित ढाई दर्जन डाक्टरों की प्रतिनियुक्ित को नियमित करने के विभाग के निर्देश को रद्द किया था। तबादले को लेकर विभाग में जारी खेल के संबंध में बिहार राज्य स्वास्थ्य सेवा संघ (भासा) ने स्वास्थ्य मंत्री को पिछले 8 जुलाई को ज्ञापन सौंपा था। प्रतिनिधिमंडल को स्वास्थ्य मंत्री ने आश्वस्त किया था कि पटना समेत 12 जिलों में जिन डाक्टरों का तबादला बिना उनकी इच्छा मांगे किया गया है, उन्हें भी दोबारा मनपसन्द स्थल चुनने का मौका दिया जाएगा। बचे 26 जिलों के डाक्टरों के स्थानांतरण में भी सभी डाक्टरों से च्वायस पोस्टिंग मांगी जाएगी। विभागीय अधिकारियों के मुताबिक तबादला के तरीके पर डाक्टरों में व्याप्त असंतोष को देखते हुए सरकार ने यह निर्णय किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: डाक्टरों के तबादले पर फिलहाल रोक