अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजधानी की हालात जस के तस, सीएम ने लिया जायजा

बारिश थमने के बावजूद गुरुवार को राजधानीवासियों को जलजमाव से राहत नहीं मिली। कंकड़बाग व राजेन्द्र नगर सहित अनेक इलाकों में घुटने से कमर तक पानी भरा है। कई इलाकों में अस्पतालों तक पहुंचाने के लिए नावों की नाकाफी व्यवस्था से कंधे पर टांग कर मरीाों को ढोया गया। धूप निकलने के बाद जलभराव वाले इलाके में सड़ांध फैलने से महामारी की आशंका बढ़ गयी है। जलजमाव से त्रस्त लोगों का कई जगह गुस्सा भी फूटा। लोगों ने ट्रांसपोर्ट नगर के पास एनएच-30 को करीब तीन घंटे तक जाम कर दिया।ड्ढr ड्ढr जाम हटाने पहुंची पुलिस को विरोध का सामना करना पड़ा। इस बीच देर रात दिल्ली से लौटे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना के डीएम और दूसर अधिकारियों के साथ जलजमाव की स्थिति का जायजा लिया। मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को सुबह साढ़े दस बजे जलजमाव पर एक उच्चस्तरीय बैठक बुलाई है। इस बीच नगर विकास एवं आवास विभाग ने कंकड़बाग में भारी जलजमाव के लिए एनबीसीसी पर भृकुटी तान दी है। विभागीय मंत्री भोला सिंह ने एनबीसीसी के अधिकारी को हड़काया और कहा कि योगीपुर सम्प हाउस से पहाड़ी सम्प हाउस जाने वाले नाले की टूट की शुक्रवार शाम तक मरम्मत नहीं हुई तो एनबीसीसी पर कार्रवाई होगी। गुरुवार को मंत्री ने समीक्षा बैठक की। उन्होंने महामारी की आशंका को देखते हुृए डाक्टरों की चलंत टीम बनाने एवं गड्ढ़ों के किनार लाल पट्टी लगाने का सख्त निर्देश दिया। डीएम को स्लम में फूड पैकेट वितरित करने और नगर आयुक्त को कू ड़ा हटाने व ब्लीचिंग पाउडर छिड़काव का निर्देश दिया। जलजमाव की समस्या से निबटने के लिए सेना की तैनाती पर विचार से उन्होंने इंकार किया। गर्दनीबाग रोड नं. एक से 18, कदमकुआं, दरियापुर, खेतान मार्केट, कांग्रेस मैदान, राजेन्द्रनगर, स्टेडियम के आसपास, शालिमार से योगीपुर, कंकड़बागं, हनुमाननगर, पाटलिपुत्र कॉलोनी, शास्त्रीनगर, राजीवनगर में गुरुवार को भी जलजमाव ज्यों का त्यों रहा। मुन्नाचक, नवरतनपुर, जवाहर कॉलोनी, इंदिरानगर, विनोवानगर, अशोक नगर रोड न. एक, पोस्टल पार्क, चांदमारी रोड, नंदनगर, रामपुर, रामकृष्ण गली, अजीमाबाद कॉलोनी आदि की स्थिति अभी भी दयनीय है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राजधानी की हालात जस के तस, सीएम ने लिया जायजा