अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

815 करोड़ का पैकेचा मिला

झारखंड की सिंचाई परियोजनाओं के लिए केंद्र ने 815 करोड़ रुपये का विशेष पैकेा दिया है। इनमें से 800 करोड़ रुपये झारखंड में चल रही 10 वृहत सिंचाई योजनाओं पर खर्च किये जा सकेंगे। 15 करोड़ रुपये सिमरिया गोरगांव बाढ़ सुरक्षा तटबंध के लिए दिये गये हैं। इस तटबंध के निर्माण की अनुमानित लागत 20.2 करोड़ है। इसमें केंद्र 75 प्रतिशत खर्च करगा, शेष राशि का वहन राज्य सरकार करगी। इस पैकेा के लिए नयी दिल्ली के श्रम शक्ित भवन में केंद्रीय जलसंसाधन राज्य मंत्री जयप्रकाश नारायण यादव और झारखंड के सिंचाई मंत्री कमलेश कुमार की बैठक हुई।ड्ढr बैठक में अंतरराज्जीय परियोजना को लेकर आम सहमति बनी। केंद्र और राज्य सरकार के मसौदे पर हस्ताक्षर हुए। केंद्र ने राज्य की दस सिंचाई परियोजनाओं को एआइबीपी के तहत स्वीकृत किया है। इनका लाभ ट्राइबल एरिया में के लोगों को मिलेगा। केंद्र सरकार ने नार्थ कोयल, बटाने परियोजना और बटेश्वर स्थान पंप नहर योजना पर झारखंड और बिहार का विवाद सुलझाने के लिए 1अगस्त को रांची में मंत्री और सचिव स्तर की बैठक की सलाह दी। कदवन जलाशय योजना के लिए बिहार, यूपी और झारखंड के लंबित मामलों पर सव्रे ऑफ इंडिया को आवश्यक निर्देश जारी किये। इस प्रोजेक्ट से बिजली का उत्पादन होना है। कनहर प्रोजेक्ट पर केंद्र ने निर्देश दिया कि झारखंड सरकार छत्तीसगढ़ सरकार के साथ संयुक्त बैठक कर मामले का समाधान कर। केंद्र ने स्वर्णरखा प्रोजेक्ट में 500 मीटर मेन केनाल के मुद्दे पर कहा कि इसके लिए वन मंत्रालय से बातचीत की जायेगी। इससे झारखंड के 70 हाार हेक्टेयर में सिंचाई का लाभ मिलेगा। परियोजना राशिड्ढr चांडिल लेफ्ट मेन केनाल376.3रोडड़्ढr सुकरी जलाशय योजना करोडड़्ढr तजना जलाशय योजना75.42 करोडड़्ढr कंस जलाशय योजना 17.37 करोडड़्ढr कांटी जलाशय योजना113.16 करोडड़्ढr कांची जलाशय योजना202.64 करोडड़्ढr अमानत बराज परियोजना158.42 करोडड़्ढr कोनार सिंचाई परियोजना160.48 करोडड़्ढr केसो जलाशय परियोजना38.78 करोडड़्ढr उत्तर कोयल पंप नहर योजना177.50 करोड़

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: 815 करोड़ का पैकेचा मिला