अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आश्रम में मौत मामले में बंद के दौरान तनाव

गुजरात में अहमदाबाद के साबरमती इलाके में स्थित आसाराम बापू आश्रम के स्कूल के दो बच्चों की दो सप्ताह पूर्व रहस्यमय मौत के बाद बंद के आह्वान से अहमदाबाद शहर के कुछ इलाके मे शुक्रवार को तनाव व्याप्त है। बच्चों की मौत के विरोध में आंदोलन कर रहे लोगों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने अश्रु गैस के गोले छोड़े। नाराज नागरिकों ने तीन वाहनों में आग लगा दी और अहमदाबाद महानगर पालिका के वाहनों पर पथराव किया। निर्णय नगर, वेजलपुर, जीवराज पार्क और साबरमती इलाके में नाराज नागरिक पुलिस से उलझ गए। इन इलाकों में पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा। आश्रम के स्कूल से दो बच्चे छह जुलाई को लापता हुए थे और दो दिन बाद साबरमती नदी के किनारे से दोनो बच्चों के शव बरामद किए गए थे। शुक्रवार के बंद को गुजरात कांग्रेस ने अपना समर्थन दिया है और लोगों से शांतिपूर्वक इस बंद में शामिल होने का आह्वान भी किया है। कांग्रेस ने 10 वर्षीय दिनेश और 11 वर्षीय अभिषेक वाघेला की मृत्यु की न्यायिक जांच की मांग भी की है। आक्रोशित प्रदर्शनकारियों के कोप का शिकार आसाराम बापू को भी होना पड़ा। अहमदाबाद में आसाराम बापू के आश्रम के समीप एक नदी किनारे दस वर्षीय दीपेश प्रफुल्ल वाघेला और उसके 11 वर्षीय चचेरे भाई अभिषेक शांतिलाल वाघेला का शव बुधवार को बरामद हुआ था। दोनों बच्चे आश्रम स्थित विद्यालय में पढ़ाई कर रहे थे। बच्चों के परिजनों का आरोप है कि आश्रम में एक तांत्रिक अनुष्ठान के दौरान दोनों बच्चों की हत्या कर दी गई और शवों को नदी में फेंक दिया गया।शुक्रवार को आसाराम बापू दोनों बच्चों के घर भी गए, लेकिन वे वहां मुश्किल से तीन मिनट ही रुक पाए। दरअसल, भारी संख्या में लोगों ने उन्हें वहां घेर लिया था। दीपेश के पिता प्रफुल्ल बघेला बेटे की मौत के बाद विगत चार दिनों से मौन व्रत धारण किए हुए हैं। आसाराम बापू ने उनके यहां जिन-जिन वस्तुओं को स्पर्श किया था, उसे उन्होंने विरोध स्वरूप आग के हवाले कर दिया। दोनों बच्चों की मौत के कारण अहमदाबाद में कांग्रेस और अहमदाबाद बार एसोसिएशन ने बंद का भी आह्वान किया। आसाराम बापू के आश्रम के समीप स्थित साबरमती और निर्णयनगर इलाकों में बंद का असर देखा गया। गुरु पूर्णिमा के मद्देनजर शुक्रवार को पुलिस ने आश्रम से दो किलोमीटर पहले ही सार्वजनिक वाहनों को प्रवेश करने से रोक दिया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आश्रम में मौत मामले में बंद के दौरान तनाव