DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेंसेक्स ने फिर लगाई 500 अंक से अधिक की छलांग

च्चे तेल के पिघलने से देश के शेयर बाजारों ने शुक्रवार को लगातार दूसरे दिन लंबी छलांग लगाई। बम्बई शेयर बाजार (बीएसई) का सेंसेक्स 524 अंक तथा नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 145 अंक की जोरदार बढ़त के साथ बंद हुए। बाजार सूत्रों के अनुसार कच्चे तेल की कीमतों में उतार से शेयर बाजारों को खासी मदद मिली है। हांलाकि सूचना प्रौद्योगिकी वर्ग की विप्रो और सत्यम के परिणाम बाजार के माफिक नहीं रहे और इनके शेयरों में जोरदार गिरावट दर्ज की गई। कच्चा तेल पिछले सप्ताह के 147 डॉलर प्रति बैरल के रिकार्ड भाव की तुलना में 17 डॉलर प्रति बैरल तक गिरकर 130 डॉलर प्रति बैरल तक आ गए। अमेरिका के शेयर बाजारों में गत दिवस आई तेजी भी यहां शेयर बाजारों की बढ़त में सहायक रही। सत्र की शुरुआत में उठापटक का दौर देखा गया। कारोबार की शुरुआत में सेंसेक्स गुरुवार के 13111.85 अंक की तुलना में 13234.53 अंक पर मजबूत खुला और कुछ देर बाद इसमें गिरावट देखी गई। नीचे में 130अंक तक गिरने के बाद ऊपर में सेंसेक्स 13684.27 अंक तक गया और समाप्ति पर इसकी तुलना में 50 अंक नीचे आया और कुल 523.55 अंक अर्थात 3.प्रतिशत की बढ़त से 13635.40 अंक पर बंद हुआ। बीएसई के मिडकैप और स्मॉलकैप सूचकांक 84.05 अंक अर्थात 1.63 प्रतिशत तथा 68.77 अंक अथवा 1.63 प्रतिशत की बढ़त के साथ क्रमश: 523अंक तथा 6455.8अंक पर बंद हुए। गुरुवार को सेंसेक्स ने 536.05 अंक की छलांग लगाई थी। एनएसई का निफ्टी 145.05 अंक अर्थात 3.67 प्रतिशत की छलांग से 40अंक पर पहुंच गया। सत्र की शुरुआत में गुरुवार के 30 अंक के मुकाबले 3अंक पर खुला। निफ्टी ऊंचे में 4110.55 अंक तथा नीचे में 30 अंक तक गिरा। गुरुवार को निफ्टी 130.50 अंक बढ़ा था। इसके मिडकैप 50 में 2.16 तथा जूनियर में 3.06 प्रतिशत की बढ़त दर्ज की गई। बीएसई के धातु और सूचना प्रौद्योगिकी के सूचकांक घाटे में रहे। बैंकेक्स, रियलटी, ऑयल ऐंड गैस, कैपीटल गुड्स और एफएमसीजी के सूचकांकों में जोरदार तेजी आई। एशियाई शेयर बाजारों में मिलाजुला रुख देखा गया। हांगकांग का हैंगसैंग, चीन के शंघाई कम्पोजिट में बढ़त रही जबकि जापान का निक्केई नीचे आया। सत्र के दौरान बीएसई में कुल 2685 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इसमें से आधे से अधिक 60.30 प्रतिशत अर्थात 161ंपनियों के शेयर बढ़े जबकि 36.28 प्रतिशत अथवा में नुकसान और में कोई घटबढ़ नहीं हुई। सेंसेक्स की तीस कंपनियों में सात में नुकसान रहा। अमेरिका के वित्तीय क्षेत्र की कंपनियों पर छाए संकट के छंटने से यहां बैंकिग वर्ग के शेयरों ने जोरदार छलांग भरी। आईसीआईसीआई बैंक का शेयर 12.05 प्रतिशत अर्थात 66.40 रुपये बढ़कर 617.60 रुपये पर पहुंच गया। एचडीएफसी का शेयर 2067.55 रुपये पर प्रतिशत अर्थात 178.85 रुपये ऊंचा रहा। एचडीएफसी बैंक में 1033.55 रुपये पर 7.87 प्रतिशत यानि 75.45 रुपये का लाभ हुआ। जयप्रकाश एसोसिएट्स, भारती एयरटेल, डीएलएफ लिमिटेड, रिलायंस इन्फ्रा, एसबीआई, भेल, आईटीसी, एनटीपीसी, रिलायंस इंडस्ट्रीज, आेएनजीसी, एल ऐंड टी, रिलायंस कम्युनीकेशन्स, मारुति सुजूकी, टाटा मोटर्स, टीसीएस, हिंडाल्को और सिप्ला के शेयर सेंसेक्स के फायदे वाले पहले 20 शेयरों में शामिल थे। आईटी वर्ग की चौथी बड़ी कंपनी सत्यम कंप्यूटर का शेयर चालू वित्त वर्ष की तिमाही के अच्छे परिणामों के बावजूद आगे के लिए धुंधली तस्वीर पेश करने से बिकवाली के दबाव में रहा। इसमें सेंसेक्स से जुड़ी कंपनियों में प्रतिशत के लिहाज से सबसे अधिक 7.51 प्रतिशत का नुकसान हुआ। कंपनी का शेयर 31.10 रुपये गिरकर 382.पये रह गया। तीसरी बड़ी कंपनी का शेयर 365.55 रुपये पर पौने चार प्रतिशत अर्थात सवा चौदह रुपये टूट गया। रैनबैक्सी लैब, टाटा स्टील, इन्फोसिस टेकनोलोजीस, हिन्दुस्तान यूनीलीवर और एसीसी के शेयर सेंसेक्स के नुकसान वाले अन्य शेयर थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: फिर 500 अंक से अधिक उछला सेंसेक्स