DA Image
3 जून, 2020|12:24|IST

अगली स्टोरी

पत्रकार हत्या मामलाः चार अभियुक्तों की उम्रकैद की सजा रद्द

पत्रकार हत्या मामलाः चार अभियुक्तों की उम्रकैद की सजा रद्द

बंबई उच्च न्यायालय ने एक चश्मदीद गवाह पर अविश्वास करते हुए 12 साल पहले एक पत्रकार की हत्या के मामले में चार लोगों को सुनाई गई उम्रकैद की सजा को खारिज कर दिया है।

न्यायमूर्ति पीवी हरदास और न्यायमूर्ति पीएन देशमुख की पीठ ने 25 सितंबर को कहा कि गवाह मामले में पंच गवाह भी था और उसने पंच गवाह बनते समय पुलिस को यह जानकारी नहीं दी कि वह ठाणे जिले के उल्हासनगर शहर में हुई हत्या मामले में चश्मदीद भी है।

पीठ ने कहा कि चश्मदीद गवाह परेश का सबूत इस गुणवत्ता का नहीं है कि अदालत उसकी गवाही पर भरोसा कर सके। पीठ ने परेश के आचरण और उसके व्यवहार को भी सहज नहीं माना और उसकी गवाही पर भरोसा नहीं किया। अदालत ने अभियुक्तों को रिहा करने का आदेश दिया। वे जेल में हैं। कल्याण की एक अदालत ने नवंबर 2004 में रमेश भाटिया, नरेश पथियानी, रमेश माधवानी और कुमार जयसिंघानी को उम्रकैद की सजा सुनायी थी।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:पत्रकार हत्या मामलाः चार अभियुक्तों की उम्रकैद की सजा रद्द