अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अलबरदेई से मिले मेनन

भारत- अमेरिकी परमाणु करार के बारे में संयुक्त राष्ट्र की निगरानी एजेंसी अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊरा एजेंसी (आईएईए) के संचालक मंडल की भारत केंद्रित सुरक्षात्मक समझौते पर चर्चा के लिए आसन्न बैठक के मद्देनजर विदेश सचिव शिवशंकर मेनन ने शुक्रवार को एजेंसी के प्रमुख से मोहम्मद अलबरदेई से मुलाकात की। सूत्रों के अनुसार मेनन ने आईएईए के महानिदेशक के साथ लंबी बातचीत की। हालांकि इस बातचीत का विस्तृत ब्यौरा अभी उपलब्ध नहीं हो पाया है। विदेश सचिव यहां 35 सदस्यीय संचालक मंडल के साथ ही परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी) के उन 1सदस्य देशों के समक्ष भी भारत का पक्ष विस्तार से रखनेवाले हैं, जो आईएईए के सदस्य नहीं हैं। अपेक्षा की जा रही है कि मेनन अंतरराष्ट्रीय समुदाय के समक्ष भारत का पक्ष मजबूती से रखेंगे और उनसे असैन्य परमाणु सहयोग को मंजूरी देने का अनुरोध करंगे। वह संभवत: अप्रसार संधि (एनपीटी) पर दस्तखत न करने के बावजूद भारत की परमाणु अप्रसार के प्रति प्रतिबद्धता का पिछला रिकार्ड भी सदस्यों के समक्ष पेश करंेगे। आईएईए संचालक मंडल और एनएसजी सदस्यों के समक्ष मेनन व परमाणु ऊरा सचिव आर.बी ग्रोवर की ब्रीफिंग इसलिए और महत्वपूर्ण हो गई है क्योंकि सुरक्षात्मक समझौते को मुहर लगाने के लिए संचालक मंडल की बैठक आगामी 1 अगस्त को होने जा रही है। एजेंसी की मुहर लग जाने के बाद भारत 45 सदस्यीय परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह देशों से परमाणु करार को क्रियान्वित करने के लिए अनुमति प्राप्त कर सकेगा। मेनन के साथ भारतीय प्रतिनिधिमंडल में आईएईए में भारत के दूत सौरभ कुमार और परमाणु ऊरा विभाग में संयुक्त सचिव गीतेश शर्मा शामिल हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अलबरदेई से मिले मेनन