DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पटना साहिब लोकसभा सीट: भाजपा में घमासान तेज

पटना साहिब लोकसभा सीट को लेकर भाजपा के दिग्गजों की बीच घमासान तेज हो गया है। अभिनेता से नेता बने पूर्व केन्द्रीय मंत्री शत्रुघ्न सिन्हा ने फोन पर ‘हिन्दुस्तान’ को बताया कि वह इतने कच्चे खिलाड़ी नहीं हैं कि स्वघोषित उम्मीदवार बनकर आलाकमान को धर्मसंकट में डालेंगे। उनको भी राजनीति की ऊंच-नीच की समझ है। उन्होंने कभी नहीं कहा कि चयन समिति ने उनको उम्मीदवार बनाया है बल्कि इतना कहा कि पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी नवजोतसिंह सिद्धू और अभिनेता विनोद खन्ना जैसे आधा दर्जन नेताओं की तरह उनकी उम्मीदवारी भी केन्द्रघोषित है।ड्ढr ड्ढr इसी कड़ी में मुरली मनोहर जोशी, सुषमा स्वराज और यशवंत सिन्हा जैसे नाम हैं। श्री सिन्हा का यह जवाब भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता रविशंकर प्रसाद के उस बयान का पटलवार माना जा रहा है जिसमें उन्होंेने कहा था कि बिहार की किसी भी सीट के उम्मीदवार का फैसला अभी केन्द्रीय चुनाव समिति ने नहीं किया है और कोई कितना भी बड़ा नेता क्यों न हो अपनी उम्मीदवारी की घोषणा खुद नहीं कर सकता। श्री सिन्हा का कहना है कि उनको दल के शीर्ष नेता लालकृष्ण आडवाणी और अध्यक्ष राजनाथ सिंह का आशीर्वाद हासिल है। उनसे दिल्ली, मुम्बई और पटना में से किसी भी लोकसभा चुनाव क्षेत्र पर उंगली रखने को कहा गया था। पटना से वह दो बार राज्यसभा सांसद रह चुके हैं। इस नाते यहां से उनका दावा और अधिकार दोनों बनता है। यही कारण है कि मैंने पटनासाहिब सीट पर अपनी उंगली रख दी है। यहां से चुनाव लड़ने की इच्छा का इजहार भी वह सरआम कर चुके हैं। जो लोग यह प्रचारित कर रहे हैं कि शत्रुघ्न सिन्हा चुनाव में डोर-टू-डोर कैम्पेन नहीं कर सकते, उनको वह यह बताना चाहते हैं कि फिल्मों के जरिए उनका लोगों से पहले एक रिश्ता है। लिहाजा उनके सामने पहचान का संकट नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पटना साहिब लोकसभा सीट: भाजपा में घमासान तेज