DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शहरी गरीबों को मिलेंगे मुफ्त मकान

प्रदेश सरकार गरीबी रखा से नीचे रहने वालों, निराश्रित विधवाओं व विकलांगों पर मेहरबान हो गई है। सरकार ने शहरों में रहने वाले एसे व्यक्ितयों को बसपा के संस्थापक स्वर्गीय कांशीराम शहरी गरीब आवास योना के तहत एक लाख एक हाार मकान मुफ्त देने का फैसला किया है। ये मकान दो कमरे के होंगे और इसकी लागत प्रति मकान 1.75 लाख रुपए होगी। मुख्यमंत्री मायावती की अध्यक्षता में शुक्रवार को हुई कैबिनेट की बैठक में यह फैसला किया गया।ड्ढr कैबिनेट के फैसले के अनुसार योना में 23 प्रतिशत अनुसूचितोाति व अनुसूचितोनााति, 27 प्रतिशत पिछड़े वर्ग और शेष 50 प्रतिशत सामान्य श्रेणी के गरीबी रखा से नीचे के लोगों के लिए आरक्षण होगा। योना के प्रथम चरण यानी वर्ष-2008-0में एक लाख एक हाार आवासों का निर्माण करायाोाएगा। प्रदेश के 60 अधिकतम शहरी आबादी वालेोिलों में प्रतिोनपद 1500 तथा शेष 11ोिलों में प्रतिोनपद 1000 आवासों का निर्माण करायाोाएगा। इसके लिए राय सरकार ने 500 करोड़ रुपए की धनराशि की व्यवस्था की है। इसमें विकलांगों को ग्राउंड फ्लोर (भूतल) पर आवास दिएोाएँगे।ड्ढr कांशीराम शहरी गरीब आवास योना का लाभ उठाने के लिए गरीबी रखा के नीचे रहने वाले ही पात्र होंगे। पुष्टि के लिए पांीकरण आवेदन के साथ आवेदक को बीपीएल प्रमाण पत्र लगाना अनिवार्य होगा। इसी तरह निराश्रित विधवा व निराश्रित विकलांग के लिए भी पात्र होने का प्रमाण पत्र देनाोरूरी होगा। इस योना के आवंटियों को गृह कर औरोलकर भी नहीं देना होगा। इसमें उन्हें छूट रहेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: शहरी गरीबों को मिलेंगे मुफ्त मकान