अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाढ़पीड़ितों के लिए केंद्र ने एक पैसा नहीं दिया: नीतीश

‘बिहार की पीठ पर हमला कर खतरनाक खेल खेलने वाले लोगों को आज पहचानिये। दिल्ली से हमको तंग किया जा रहा है। अगर दिल्ली में भी अपनी सरकार होती तो बिहार का तिगुना विकास होता।’ ये बातें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को खुदीराम बोस मैदान में अतिपिछड़ा महासम्मेलन को संबोधित करते हुए कहीं। मुख्यमंत्री ने बाढ़-बरसात के बावजूद गांवों से आये हाारों अतिपिछड़ों से कहा कि जिस तरह वे यहां डटे हैं, आगे भी डटे रहें। ऊरा संकट के बहाने न्यूक्िलयर डील की बात हो रही है। जब बिहार में ऊरा के लिए इथनॉल उत्पादन की योजना बनाई, तो केन्द्र ने उसपर रोक क्यों लगा दी। बीस हाार करोड़ रुपये की योजना स्वीकृत होकर पड़ी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे कदम बढ़ाते हैं, तो कदम बांधे जाते हैं।ड्ढr ड्ढr मुख्यमंत्री ने कहा कि बाढ़ पीड़ितों के सहायतार्थ केन्द्र ने एक पैसा नहीं दिया। अब राजद नेता यहां आकर कहते हैं कि सरकार काम नहीं कर रही, पैसा खर्च नहीं हो रहा है। उन्होंने अति पिछड़ों, महादलितों, अल्पसंख्यकों एवं दलितों के सशक्तिकरण पर बल देते हुए पूछा की संविधान में प्रावधान के बावजूद पंचायतों एवं नगर परिषदों में उन्हें आरक्षण क्यों नहीं दिया गया?

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बाढ़पीड़ितों के लिए केंद्र ने एक पैसा नहीं दिया: नीतीश