अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पूर्णिया में कहीं भी नहीं बंटे कूपन

गरीबों के लिए चलायी जा रही अतिमहत्वाकांक्षी राशन किरासन कूपन योजना पूर्णिया में शुरू होने से पहले ही धराशायी होकर रह गयी है। कहीं भी कूपन वितरण नहीं हुआ है। यह अलग बात है कि बनायी गयी सूची में समृद्ध व सम्पन्न लोग आगे आ गये और गरीब दरकिनार हो गये। इसकी ढेर सारी शिकायतें दफ्तरों की धूल फांक रही हैं। सूत्रों के अनुसार जिले में 6 लाख 15 हजार 85 लोग किरासन कूपन के लिए चिह्न्ति किये गये हैं, जिनमें बीपीएल एवं एपीएल दोनों हैं। राशन कूपन के लिए 2 लाख 48 हजार 164 लोग, अंत्योदय के लिए 58,566 लोग विशेष अन्त्योदय के लिए 31 हजार चार सौ 2लोग और अन्नपूर्णा के लिए 4 हजार 4लोग पूर जिले में चिह्न्ति किये गये हैं।ड्ढr ड्ढr चिह्न्ति लोगों अथवा परिवारों के लिए कूपन अब तक उपलब्ध नहीं कराया जा सका है। किरासन कूपन का हश्र यही है कि 6लाख 15 हजार के विरुद्ध 16 हजार कूपन ही प्रथम फेज में आया। पूरा कूपन आने के इंतजार में जिला प्रशासन चुप्पी साधे हुए है। किरासन कूपन छोड़ सभी श्रेणी के कूपन प्रखंडों को उपलब्ध करा दिया गया है। पंचायतों में इसे वितरित करने की कोई प्रक्रिया नहीं दिख रही है। जिला आपूर्ति पदाधिकारी बीके लाल दावा करते हैं कि शीघ्र ही सार कूपन लाभुकों को मुहैया करा दिये जाएंगे। इसके लिए शुरुआत बायसी प्रखंड से कर दी गयी है। उपयरुक्त चिह्न्ति परिवार हाल-फिलहाल सम्पन्न बीपीएल सव्रेक्षण में से हैं इसके विरुद्ध लगभग सवा लाख लोगों ने आपत्तियां दे रखी हैं जिनकी अभी तक जांच भी नहीं करायी जा सकी है। हजारों सुविधा सम्पन्न लोगों के नाम जोड़ दिये गये हैं। अकेले पूर्णिया सदर अनुमंडल में 43 हजार आपत्तियां आयी हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पूर्णिया में कहीं भी नहीं बंटे कूपन