DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डेरा मामले पर सरकार करे तो क्या कर

पंजाब सरकार मुश्किल में है। डेरा सच्चा सौदा के मुद्दे पर सत्तारूढ़ शिरोमणि अकाली दल चाहते हुए भी एसी कोई कार्रवाई नहीं कर सकता जिससे राज्य में साम्प्रदायिक तनाव इस कदर बढ़ जाए कि उनकी अपनी सरकार को ही खतरा पैदा हो जाए। दूसरी ओर यह भी नहीं चाहता कि राज्य के गरमपंथी गुट जो एसे ही मौके की तलाश में रहते हैं जन भावनाएं भड़का कर सरकार को निशाना बना सकें। गरमपंथियों की आलोचनाओं से बचने के लिए ही दल को डेरा के खिलाफ एसा कुछ करना पड़ता है जिससे आहत सिखों की भावनाओं पर मरहम लग जाए और गरमपंथी हावी भी न हो सकें। ेमुम्बई के बाद हरियाणा के डबवाली विवाद की आग से राज्य को बचाने के लिए बादल सरकार ने आनन-फानन में रड अलर्ट घोषित कर पुलिस के कड़े इन्तजाम कर दिए। गरमपंथी सिख संगठनों ने डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहम को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर अब 23 जुलाई को पंजाब में काम-काज बंद का आह्वान किया है। दमदमी टकसाल प्रमुख हरनाम सिंह खालसा ने कहा कि बंद से केवल आपात सेवाओं को छूट रहेगी। इसके बाद संत समाज 30 जुलाई को लुधियाना में बैठक कर आगे की कार्रवाई पर विचार करगा।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: डेरा मामले पर सरकार करे तो क्या कर