अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आबादी तो बड़ी है पर भारत कहां चीन कहां

दुनिया में एक अरब से ज्यादा की आबादी वाले दो देशों चीन और भारत में ओलंपिक स्तर पर दो ध्रुवों का फासला है। चीन 1में ओलंपिक आंदोलन में वापसी करने के बाद से पिछले छह ओलंपिक में 112 स्वर्ण पदकों सहित कुल 286 पदक जीत चुका है जबकि भारत ओलंपिक में 21 बार भाग लेने के बावजूद अब तक सिर्फ 17 पदक जीत पाया है। भारत ने इन 17 पदकों में से 11 पदक सिर्फ पुरुष हाकी में जीते हैं। इन 11 पदकों में आठ स्वर्ण, एक रजत और दो कांस्य हैं। ओलंपिक स्तर पर चीन और भारत के बीच मीलों लम्बा ऐसा फासला है जिसे अगले सौ वर्षों में भी पाटना मुश्किल होगा। वर्ष 1े लास एंजेलिस, 1े सियोल और 1े बार्सिलोना ओलंपिक में तो भारत के खिलाड़ी शर्म से सिर झुकाए खाली हाथ लौटे। आजादी के बाद 1े हेलसिंकी ओलंपिक में भारत ने हॉकी का स्वर्ण जीता जबकि के डी. जाधव ने कुश्ती में कांस्य पदक जीता। इन दो ओलंपिक को छोड़ दिया जाए तो भारत कभी एक ओलंपिक में एक पदक से आगे नहीं जा पाया। इसी तथ्य से इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि दुनिया में दूसरी सबसे ज्यादा आबादी वाले देश भारत की ओलंपिक खेलों में क्या दुर्दशा रही हैं। चीन ने 1में ओलंपिक में वापस लौटने के बाद से लगातार अच्छा प्रदर्शन किया है। अगस्त 1में ऑल चाइना स्पोर्ट्स फेडरेशन ने अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति-आईओसी के साथ अपने सभी संबंध तोड़ लिए थे।ड्ढr अक्तूबर 1में नागोया में हुई आईओसी की कार्यकारी बोर्ड की बैठक में चीन को वापस ओलंपिक में शामिल कर लिया गया था। लेकिन चीन ने पूर्व सोवियत संघ के अफगानिस्तान पर हमले के विरोध में 10 के मास्को ओलंपिक में हिस्सा नहीं लिया।ड्ढr चीन ने 1े लॉस एंजिलिस ओलंपिक में 15 स्वर्ण, आठ रजत और नौ कांस्य सहित 32 पदक जीते थे जबकि इन खेलों में भारत एक भी पदक हासिल नहीं कर पाया था।ड्ढr उड़न परी पी टी उषा 400 मीटर बाधा दौड़ में सेकेंड के सौंवे हिस्से से कांस्य पदक जीतने से चूक गई थी। सियोल में 1में हुए अगले ओलंपिक में चीन ने पांच स्वर्ण, 11रजत और 12 कांस्य सहित 28 पदक जीते थे जबकि भारत इस बार भी कोई पदक नहीं जीत पाया।ड्ढr बार्सिलोना में 1में हुए ओलंपिक में चीन ने 16 स्वर्ण, 22 रजत और 16 कांस्य सहित 54 पदक जीते। भारत इस बार भी खाली हाथ लौटा।ड्ढr अमेरिका के अटलांटा में 1में हुए ओलंपिक में चीन ने 16 स्वर्ण, 22 रजत और 12 कांस्य पदक सहित 50 पदक जीते। भारत को इस ओलंपिक में लिएंडर पेस ने टेनिस में कांस्य पदक दिलाया।ड्ढr 2000 सिडनी ओलंपिक में चीन ने 28 स्वर्ण, 16 रजत और 15 कांस्य सहित कुल 5पदक जीते। भारत को इस बार कर्णम मल्लेश्वरी ने भारोत्तोलन में कांस्य पदक दिलाया। 2004 में एथेंस ओलंपिक मंे चीन ने 32 स्वर्ण, 17 रजत और 14 कांस्य पदक समेत कुल 63 पदक जीते। भारत को इस बार निशानेबाज राज्यवर्धन राठौर ने रजत पदक जिताया। (रॉयटर्स)ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आबादी तो बड़ी है पर भारत कहां चीन कहां