अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रमसमय पर पूरा करना निदेशालय के जिम्मे

राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रमों को तय मानक के अनुरूप समय पर पूरा करने की जिम्मेवारी अब स्वास्थ्य निदेशालय पर है। निदेशालय को उपलब्ध संसाधनों में ही आवश्यक राशि खर्च करने की चुनौती स्वीकारनी होगी। हालांकि महीनों से बेकार बैठे स्वास्थ्य निदेशालय में नियुक्त डाक्टरों का कहना है कि राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन (एनआरएचएम) के लागू होने से पूर्व कई राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रमों का संचालन निदेशालय स्तर से ही होता रहा है। अब अगले तीन महीने के अन्दर आवश्यक आधारभूत संरचना का विकास कर मलेरिया उन्मूलन, फाईलेरिया उन्मूलन, कुष्ठ निवारण, यक्ष्मा उन्मूलन एवं अंधापन नियंत्रण के क्षेत्र में निदेशालय को गंभीरता से कार्रवाई करनी होगी।ड्ढr ड्ढr सामान्यतया जिलों में खर्च की गई राशि का उपयोगिता प्रमाण पत्र देने में निदेशालय स्तर पर विलम्ब होने की शिकायत रही है। इस ओर स्वास्थ्य निदेशालत को विशेष ध्यान देना होगा और केन्द्र से इन कार्यक्रमों की अगली किस्त प्राप्त करने के लिए समय पर कार्रवाई करनी होगी। विभाग द्वारा जारी निर्देश के मुताबिक राज्य कार्यक्रम पदाधिकारियों को यह व्यक्ितगत जिम्मेवारी दी गई है कि वे राज्य स्वास्थ्य समिति से सभी संचिकाएं प्राप्त कर लें। अगले महीने से स्वास्थ्य निदेशालय ही इन सभी कार्यक्रमों के कार्यान्वयन के लिए पूर्ण रूप से जवाबदेह होगा और निदेशक प्रमुख समय-समय पर इन कार्यक्रमों से संबंधित जिला स्तर के पदाधिकारियों की समीक्षात्मक बैठक करंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रमसमय पर पूरा करना निदेशालय के जिम्मे