DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जलजमाव ग्रस्त इलाकों में बिजली ने रुलाया

जलजमाव वाले इलाकों में शनिवार को लगातार दूसर दिन भी लोग घंटों बिजली की समस्या से जूझते रहे। मीठापुर ग्रिड को लगभग घंटाभर बंद रखा गया था। नतीजतन कंकड़बाग, प्रोफेसर कालोनी, डाक्टर्स कालोनी, हनुमाननगर, बहादुरपुर, राजेंद्रनगर, कदमकुआं के कुछ अंश में लोगों की फजीहत हो गयी।प्रोफेसर कालोनी की मधु दास ने बताया कि दोपहर 1 बजे ही बिजली चली गयी तो शाम 5.30 बजे आयी।ड्ढr ड्ढr इससे बिजली के साथ ही पानी की भी किल्लत हो गयी। एक तो पहले से ही हमलोग जलजमाव की समस्या से जूझ रहे हैं। हालांकि पेसू के जीएम राजनाथ सिंह का दावा है कि मीठापुर ग्रिड से सिर्फ एक घंटा ही बिजली की आपूर्ति बंद रही। इसके अलावा कहीं से भी बिजली आपूर्ति बाधित होने की सूचना नहीं है। उनके मुताबिक फतुहा में तकनीकी गड़बड़ी को दूर करने के लिए मीठापुर व गायघाट ग्रिड को दोपहर 2.30 बजे से ही 3.30 बजे तक बंद रखा गया था। दूसरी ओर गर्दनीबाग में 11 केवीए संचरण तार के टूटने से लगभग तीन घंटे तक बिजली गुल रही। मोहल्लों में किया गया डीडीटी का छिड़कावड्ढr पटना (हि.प्र.)। जलजमाव और उससे होनेवाली महामारी से बचाव के लिए शनिवार को फाइलेरिया की 20 टीमों द्वारा विभिन्न मुहल्लों में डीडीटी का छिड़काव किया गया। स्वास्थ्य विभाग के सहायक निदेशक डा.राघवेन्द्र कुमार ने बताया कि मछुआटोली, राजेद्रनगर गोलम्बर, पुल के उत्तरी क्षेत्र, रोड नम्बर 12-13, लोहानीपुर खादपर, बाजार समिति रोड के स्लम क्षेत्र, गयाघाट, चैलीटांड, आईडीएच, गुलजारबाग, मंगलतलाब और अम्ेडकर कॉलोनी के पास ब्लीचिंग और चूना का छिड़काव किया गया। इस बीच कुछ मरीजों को दवाएं भी दी गयी। तीन बनाकर इन क्षेत्रों में चिकित्सा सेवा और छिड़काव किया गया। टीम में डॉक्टर, पारामेडिकल स्टाफ के अलावा आवश्यक दवाएं मरीजों के नजदीक पहुंचायी गयी। इस दौरान जो मरीज बीमार थे उन्हें चिकित्सकों द्वारा आवश्यक दवाएं दी गयी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जलजमाव ग्रस्त इलाकों में बिजली ने रुलाया