DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तंत्र-मंत्र के भरोसे गद्दी बचाने की मुहिम

ॅ रियर बचाने और प्रमोशन पाने को सवाल हो तो लगता है, आदमी हर नुस्खे आजमाता है। विश्वास मत क ो लेक र नेता ऐसा क र रहे हैं तो आश्चर्य नहीं। आखिर उनके कॅ रियर भी तो दांव पर है! जो सरकोर के पक्ष में हैं, उन लोगों ने महाकोल की नगरी उज्जन से लेक र मिर्जापुर तक में तांत्रिक अनुष्ठान क रवाए हैं।(अब एटमी ऊ र्जा-ौसी वैज्ञानिक बातों के बरक्स यह अजीब लगे तो लगे!) उधर, यूपी की मुख्यमंत्री मायावती भले ही पहले ब्राह्मणवाद क ो लेक र बहुत कु छ क हती रही हों, अब जब ‘सर्वजन समाज’ की बात क रनी लगी हैं तो उनके समर्थक क हां पीछे रहने वाले थे। उन लोगों ने बहनजी को प्रधानमंत्री बनाने के लिए विंध्यधाम में यज्ञ क रने को मुहूर्त निक लवाया है । उज्जन के श्मशान घाट में कि ए गए तांत्रिक अनुष्ठान के आयोजक एक कें द्रीय मंत्री जी हैं । इसकी पूर्णाहुति शुक्र वार की रात की गई। यह अनुष्ठान उज्जन के भय्यू महाराज और राजगढ़ के मुके श महाराज के साथ दर्जन भर से अधिक तांत्रिक ों ने कि या। इसके लिए दिल्ली से फ ोन पर आग्रह कि या गया था। फ ोन क रने वाला के न्द्रीय मंत्री क ौन था, यह खुलासा नहीं हुआ है । श्मशान घाट स्थित भैरव मंदिर पर हवन और जलती चिता पर तंत्र साधना की गई। सोनिया, राहुल और मनमोहन सिंह के चित्रों क ो सामने रखक र शव साधना और हवन कि या गया। भय्यू महाराज क ो उम्मीद है कि साधना जरू र सफ ल होगी। उधर, एक झामुमो कोर्यक र्ता के निर्देश पर मिर्जापुर के विंध्यवासिनी धाम के एक पुरोहित के मकोन में भी गोपनीय अनुष्ठान क राया जा रहा है । ऐसे में बसपा कोर्यक र्ता कै से पीछे रहें ? वे मायावती क ो प्रधानमंत्री बनाने के लिए 21 जुलाई क ो विंध्यधाम में सुबह आठ बजे से शतचंडी महायज्ञ क रेंगे। इसके लिए बसपाई 21 जुलाई क ो अष्टभुजा डाक बंगला के रैन बसेरे पर जुटेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: तंत्र-मंत्र के भरोसे गद्दी बचाने की मुहिम