अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कूपन वितरण में गड़बड़ी बेशुमार

जिले में नई पारिवारिक सव्रेक्षण सूची के आधार पर राशन-किरासन कूपन योजना एक जुलाई से शुरू की जाएगी। नई पारिवारिक सव्रेक्षण सूची की विश्वसनीयता पर सवाल खड़े किये गये हैं, जिसके लिए प्रखंड स्तर पर लाखों लोगों ने दावा व आपत्ति दर्ज की है। इन दावों के विरुद्ध जिला प्रशासन की जांच चल रही है। जांचोपरांत ही गरीबों के नाम छूटने संबंधी दावे की जानकारी मिल पाएगी। जनवितरण प्रणाली द्वारा सूची के आधार पर वितरण में भारी अनियमितता की शिकायत लाभुकों द्वारा की गयी।ड्ढr ड्ढr शिकायतों के आधार पर तीन माह के दौरान कई जनवितरण प्रणाली विक्रेताओं को निलंबित किया गया। इधर जिले को नई सव्रेक्षित सूची में बीपीएल परिवारों की संख्या के अनुरूप 160353 कूपन बुक की आपूर्ति सरकार द्वारा की गयी है। किरासन तेल के लिए बीपीएल एवं एपीएल मिलाकर 3563ूपन बुक भेजी गयी है। अंत्योदय योजना के लिए 33एवं विशेष अंत्योदय के लिए 18200 कूपन बुक राज्य सरकार द्वारा भेजी गयी है। बीपीएल, अंत्योदय एवं विशेष अंत्योदय योजना में प्रत्येक लाभुक को 15 किलो चावल एवं 10 किलो गेहूं देने का प्रावधान है। अन्नपूर्णा अन्न योजना के अंतर्गत सहरसा को 3ूपनों की आपूर्ति की गयी है। जिले में पुरानी पारिवारिक सव्रेक्षण सूची के अनुसार लाभुकों को मार्च 2007 से फरवरी 2008 तक का कूपन वितरण फरवरी 2007 में किया गया था। इसमें अंत्योदय अन्न योजना के तहत 33737, बीपीएल योजना में 7किरासन तेल का 11321ूपन की आपूर्ति सरकार द्वारा की गयी। पिछले वर्ष किरासन कूपन योजना में एपीएल परिवारों को शामिल नहीं किया गया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कूपन वितरण में गड़बड़ी बेशुमार