अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अस्पताल से ही गंगा दर्शन करंगे रोगी

छह मंजिले भवन से गंगा-दर्शन कर स्वास्थ्य लाभ करेंगे हृदयरोगी। अन्य रोगों से ग्रसित मरीजों को भी पांच मंजिले भवन से गंगा का लुत्फ उठाने की व्यवस्था की जा रही है। राज्य सरकार ने पूर सूबे के मरीजों का भार उठाने वाले पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल एवं इंदिरा गांधी हृदय रोग संस्थान में मरीजों के लिए बेड बढ़ाने का निर्णय किया है। इसके लिए भवन निर्माण विभाग एवं स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त तत्वावधान में बने स्पेशल परपस व्हेकिल (एसपीवी) को राशि आवंटित कर दी गई है।ड्ढr ड्ढr स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की मानें तो बरसात बाद इन भवनों का निर्माण शुरू किया जाएगा। पीएमसीएच में पांच मंजिले ओपीडी भवन बनाने का भी निर्णय किया गया है। दरअसल आवश्यकता के मुताबिक एक जगह ओपीडी की व्यवस्था नहीं होने से पीएमसीएच में मरीजों को इधर-उधर भटकना पड़ता है। इससे डाक्टरों को भी परशानी होती है जबकि दलालों की चांदी रहती है। इसके लिए सरकार ने पुराने ओपीडी भवन की जगह पांच मंजिले नये ओपीडी भवन बनाने का निर्देश एसपीवी को दे दिया है।ड्ढr ड्ढr पीएमसीएच के वर्तमान कॉटेज भवन की जगह मल्टीस्टोरी प्राइवेट कॉटेज बनाया जाएगा। यहां अत्याधुनिक निजी अस्पतालों की तरह सभी व्यवस्था मुहैया करायी जाएगी। इसमें पैसे का भुगतान कर मरीज वातानुकूलित स्टार सुविधाएं भी प्राप्त कर सकेंगे। इंदिरा गांधी हृदय रोग संस्थान के पुराने भवन की जगह छह मंजिला नया भवन बनाने का निर्देश जारी हो गया है। इसमें पेड और नॉन पेड दोनों तरह के बेडों की व्यवस्था रहेगी। इससे अद्यतन सुविधाएं प्राप्त करने के लिए निजी अस्पतालों में जाने वाले पैसे वाले मरीजों को रोकने में काफी सफलता मिलेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अस्पताल से ही गंगा दर्शन करंगे रोगी