DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सभी पुज्रे ठीक होंगे,तभी न्यायपालिका मजबूत होगी

यायपालिका पर लोगों का भरोसा और अपेक्षाएं बढ़ी हैं। इस कारण न्यायपालिका और इससे जुड़े लोगों का दायित्व भी बढ़ जाता है। न्यायपालिका से जुड़े लोगों को बिना स्वार्थ काम करना चाहिए। सीमित संसाधनों और अपनी तकलीफों को नजरअंदाज कर हम लोगों की अपेक्षाएं पूरी कर सकते हैं। न्यायपालिका का जब तक एक- एक पुर्जा सही नहीं होगा, तब तक इसमें ताकत नहीं आयेगी। उक्त बातें झारखंड की चीफ जस्टिस ज्ञान सुधा मिश्र ने कहीं। वह 20 जुलाई को सीएमपीडीआइ हॉल में झारखंड न्यायिक सेवा संघ की ओर से आयोजित अभिनंदन समारोह को संबोधित कर रही थीं।ड्ढr उन्होंने जजों से ईमानदारी से काम करने की अपील की। जस्टिस मिश्र ने कहा कि राग- द्वेष से ऊपर उठकर काम करने की जरूरत है। निचली अदालतों और यहां के जजों को यदि कोई शिकायत होगी, तो उसे दूर किया जायेगा। लेकिन यदि निचली अदालतों में काम नहीं होगा, गड़बड़ी होगी, तो हाइकोर्ट कार्रवाई करने में भी पीछे नहीं हटेगा। स्वागत भाषण एसोसिएशन के अध्यक्ष रिटायर जस्टिस विक्रमादित्य प्रसाद ने किया। धन्यवाद ज्ञापन एसोसिएशन के उपाध्यक्ष डीएन उपाध्याय ने किया। इस अवसर पर जस्टिस अमरश्वर सहाय, जस्टिस आरके मेरठिया, जस्टिस एनएन तिवारी, जस्टिस आरआर प्रसाद, जस्टिस डीके सिन्हा, रिटायर्ड जज, संघ के सदस्य और अन्य न्यायिक अधिकारी उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सभी पुज्रे ठीक होंगे,तभी न्यायपालिका मजबूत होगी