अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजरंग

डोंट वरी, बी हैप्पी दिल्ली में डील हो गयी, झारखंड गुलजार हो गया। इस डील में परमाणु एनर्जी के साथ-साथ बहुते लोगों को एनर्जी मिल गयी। परमाणु एनर्जी तो जब मिलेगी तब देखा जायेगा, अभी तो ग्रीन लीफ की एनर्जी ही काफी है। डील में किसको का-का मिला इ तो पब्लिक को नहीं दिखा, लेकिन एगो लंबा सा चिट्ठा जरूर दिखा, जिसमें झारखंड की तरक्की का आईना पेश किया गया है। गुरुाी और उनके चेला लोग झारखंड का केतना खयाल रखते हैं। सेंटर को सपोर्ट देने के एवज में स्टेट के लिए क्या-क्या नहीं मांगा? सभे कुछ है इसमें। अर भाई आखिर ऊ हैं तो स्टेट के लीडर, भले ही पोलिटिक्स सेंटर में कर रहे हैं। जो डिमांड रखा है, मिल गया तो बूझिये झारखंड का चेहरे बदल जायेगा। परमाणु डील में झारखंड के लोग सबसे ज्यादा खुश हैं। अपने हनी ब्रदर तो कई दिन से स्टेट छोड़ कर सेंटर में शिफ्ट कर गये हैं। उनके सहकर्मी भी वहीं डेरा डाले बइठल हैं। आखिर सेंटर मजबूत रहेगा तबे न स्टेट ठीक रहेगा। सेंटर के लोगों ने हनी ब्रदर को रिस्पांसिबिलिटी दी थी कि गुरुाी का खयाल रखें। हनी ब्रदर ने पूरा खयाल रखा। जब गुरुाी अंडरग्रांउड से ओवर ग्राउंड हुए और देश को बता दिये कि राष्ट्रहित ही उनका हित है, तबे से हनी ब्रदर बहुते हैप्पी हैं। लोग उनको कहियो रहा है- डोंट वरी बी हैप्पी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राजरंग