अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सिर्फ मेंडिस से ही नहीं है खतरा

श्रीलंका का आक्रमण सिर्फ अजंता मेंडिस पर ही निर्भर नहीं है। यदि हम सिर्फ मेंडिस पर ही ध्यान केंद्रित करके चलते हैं तो यह खतरनाक भी हो सकता है। पूर्व भारतीय कप्तान राहुल द्रविड़ ने सोमवार को यहां अपनी टीम को इस आशय की चेतावनी दी। बुधवार को शुरू हो रहे पहले टेस्ट से पूर्व यहां मीडिया से बातचीत में द्रविड़ ने कहा कि यह सही है कि मेंडिस के खतर से हमें सावधान रहना है पर इस फेर में हमें पुराने घाघ मुथैया मुरलीधरन और चामिंडा वास को कमजोर मान कर नहीं चलना चाहिए। उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से मेंडिस को श्रीलंका अपने चार या पांच गेंदबाजों की फौा में रखेगा पर हम केवल उसी पर ध्यान केंद्रित करके नहीं चल सकते। मेंडिस के साथ कुछ और भी खतरनाक गेंदबाज (मुथैया मुरलीधरन और चामिंडा वास) हैं जिन्होंने 1000 विकेट बांटे हुए हैं। यह सब जान कर भी हम केवल मेंडिस का ही हौवा बनाकर चलें तो गलत होगा। हम वैसा ही खेलेंगे जसा वक्त की जरूरत होगी। हमने अपने समय में बहुत से गेंदबाज झेले हैं और उनके खिलाफ सफलता पाई है। द्रविड़ ने विश्वास जताया कि भ्रमणकारी टीम इस फिरकी गेंदबाज का तोड़ निकाल लेगी। एशिया कप के फाइनल में इस स्पिनर ने छह विकेट का जखीरा उखाड़ कर भारत को न केवल ट्रॉफी से वंचित किया था बल्कि भारत के बल्लेबाजों में अपना आतंक भी कायम कर लिया था। द्रविड़ ने कहा कि श्रीलंका के आक्रमण में लसिथ मलिंगा, दिलहारा फर्नाडो और परवेज महारूफ की कमी तो रहेगी पर फिर भी उनका आक्रमण काफी मजूबत है।ड्ढr उन्होंने कहा कि उनकी गेंदबाजी बहुत संतुलित है। वे हमेशा अपने घर में एक बड़ा खतरा होते हैं। मुरलीधरन का बड़ा प्रभाव पड़ता है। वास भी काफी चतुर गेंदबाज हैं और इन परिस्थितियों का काफी लाभ उठाते हैं। उन्होंने कहा कि श्रीलंका के पास जबरदस्त बल्लेबाजी क्रम भी मौजूद है। इसी से यह सीरीा काफी रोमांचक बन जाएगी। उनकी अच्छी बल्लेबाजी भी इन परिस्थितियों का भरपूर फायदा उठाती है। वे काफी लंबे समय तक बल्लेबाजी कर सकते हैं। पर हम भी यहां एक अच्छी टीम के साथ आए हैं। यदि हम अपनी पूरी क्षमता के साथ खेलते हैं तो मुझे लगता है कि तो हमार लिए यह एक अच्छी टेस्ट सीरीा होगी। द्रविड़ ने कहा कि सचिन तेंदुलकर पर सबकी नजर रहेगी। वह ब्रायन लारा के विश्व रिकार्ड (11,रन) से केवल 172 रन दूर हैं। सब देखना चाहेंगे कि वह इस रिकार्ड को कब तोड़ते हैं। पर मेरा आग्रह है कि टीम को अपना पूरा ध्यान सीरीा जीतने पर लगाना चाहिए। ड्रेसिंग रूम में रिकार्ड अथवा ऐसी अन्य तरह की बातों का जिक्र नहीं होना चाहिए। हमारा लक्ष्य सीरीा जीत का है और सचिन का भी पूरा ध्यान सीरीा जीतने पर ही लगा होगा। मुझे उम्मीद है कि वह यहां रिकार्ड तोड़ लेंगे। हम तो उम्मीद कर रहे हैं कि वह पहले टेस्ट की पहली पारी में ही यह कारनामा कर जाएं। यदि ऐसा होता है तो हमारा जश्न बहुत बड़ा होगा। यह तो निश्चित है कि यह उनके लिए और पूरी टीम के लिए एक महान उपलब्धि होगी। व्यक्ितगत रूप से द्रविड़ यहां सात साल बाद अपना पहला टेस्ट खेल कर काफी खुश हैं। उन्होंने कहा कि हमने यहां 2001 के बाद से कोई टेस्ट नहीं खेला। यह काफी सुखद है कि हम इतने समय बाद टेस्ट खेलने लौटे हैं और मैं यहां जीत की उम्मीद करता हूं।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सिर्फ मेंडिस से ही नहीं है खतरा