अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तेजाब से हमला बनेगा गंभीर अपराध

तेजाब के हमले को शीघ्र ही गंभीर अपराध बना दिया जाएगा। आईपीसी में इसके लिए एक नया प्रावधान 326 ए जोड़ा जाएगा लेकिन इसमें कितनी सजा होगी इस बार में अभी तय होना बाकी है। गृह मंत्रालय इस बार में महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की राय का इंतजार कर रहा है। इस अपराध के लिए 10 साल से लेकर उम्रकैद तक की सजा देने का राष्ट्रीय महिला आयोग का प्रस्ताव मंत्रालय में विचाराधीन है। सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को दखिल शपथपत्र में केंद्र सरकार ने यह जानकारी दी। सर्वोच्च न्यायालय तेजाब के हमले की पीड़िता नाबालिग लड॥की लक्ष्मी की याचिका पर सुनवाई कर रहा है।ड्ढr अतिरिक्त सालिसिटर जनरल मोहन परासरण ने कोर्ट को बताया कि आपराधिक कानून और दंड प्रक्रिया संविधान की परिवर्ती सूची में है, इसलिए इस बार में कोई प्रावधान बनाने के लिए राज्यों से विचार करना आवश्यक है। इस संबंध में विज्ञान भवन में राज्यों गृह सचिवों की 7 जुलाई को बैठक हुई थी। तेजाब, अन्य जलनकारी पदार्थ और गर्म पानी से हमले में कानून को सख्त करने के लिए सभी राज्य सहमत हैं। राज्यों ने इस बात पर भी राामंदी दिखाई कि तेजाब के पीड़ित को पर्याप्त मुआवजा भी मिले। हालांकि राज्य के प्रतिनिधियों ने कहा कि यह मुआवजा किस तरह दिया जाए इस बार में उन्हें राज्यों सरकारों से बात करनी होगी। परासरण ने बताया कि महिला आयोग ने साक्ष्य कानून में भी संशोधन का प्रस्ताव किया है और कहा है कि आरोपी को इस मामले में तुरंत दोषी मान लिया जाए यानी स्वयं को निर्दोष साबित करने का भार अभियुक्त पर हो।ड्ढr जहां तक तेजाब को खुले बाजार में बेचने पर प्रतिबंध का सवाल है तो इस मुद्दे पर राज्यों प्रतिनिधियों ने तीव्र आपत्ति जताई। उन्होंेने कहा तेजाब घरेलू और अन्य कार्यों के लिए इस्तेमाल होता है। यदि इसे बचने के लिए लाईसेंस जारी करना उचित नहीं होगा। जाएगा तो यह इंस्पेक्टर राज को बढ़ावा देगा।ड्ढr लक्ष्मी की वकील अपर्णा भट ने बताया कि पुलिस तेजाब के हमलों को धारा 326 आईपीसी (खतरनाक हथियार या साधन से गंभीर चोट पहुंचाना) में दर्ज करती है जबकि यह एक अलग किस्म का अपराध है जिसके पीड़ित व्यक्ित का बाहरी और भीतरी जीवन लगभग नष्ट हो जाता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: तेजाब से हमला बनेगा गंभीर अपराध