DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

झारखंड एनडीए का जंतर-मंतर पर धरना

झारखंड की मधु कोड़ा सरकार को बर्खास्त करने की मांग को लेकर राज्य के एनडीए विधायकों और नेताओं ने सोमवार को दिल्ली में जंतर-मंतर पर धरना दिया। इसके बाद एनडीए की ओर से राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपा गया, जिसमें राज्य की सरकार को हर मोरचे पर विफल करार दिया गया है।ड्ढr राज्य के मंत्रियों पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए उनके कार्यकलापों की सीबीआइ जांच और उग्रवादी हमले में मार गये पूर्व विधायक रमेश सिंह मुंडा के परिानों को सुरक्षा दिलाने की गुहार की गयी है। प्रतिपक्ष के नेता अजरुन मुंडा, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष पीएन सिंह, जदयू के प्रदेश अध्यक्ष जलेश्वर महतो के नेतृत्व में आयोजित धरना में एनडीए के लगभग दो दर्जन विधायक और सौ से अधिक कार्यकर्ता शामिल हुए।ड्ढr धरनास्थल पर अजरुन मुंडा, पीएन सिंह ने कहा कि कांग्रेस ने राज्य को चारागाह बना दिया है। जलेश्वर महतो ने कहा कि यूपीए सरकार की लापरवाही के कारण ही रमेश सिंह मुंडा की हत्या हुई।ड्ढr धरना में विधायक कड़िया मुंडा, रामटहल चौधरी, राधाकृष्ण किशोर, जेपीएन सिंह, सीपी सिंह, डॉ दिनेश षाडंगी, सत्यानंद भोक्ता, सरयू राय, अशोक भगत, रामचंद्र बैठा, सुनील सोरन, योगेश्वर महतो बाटुल, खीरू महतो, कामेश्वर दास, चितरांन यादव, नीलकंठ सिंह मुंडा, केदार हाजरा, चंद्रेश उरांव, राज पालिवाल, समीर उरांव, कोचे मुंडा, ब्रजमोहन राम, अभयकांत प्रसाद, पुत्कर हेंब्रम, यदुनाथ पांडेय, दिनेशानंद गोस्वामी, राकेश प्रसाद, सुदर्शन भगत, विरंची नारायण, प्रमोद मिश्र, गामा सिंह, मधु सिंह, रामचंद्र केसरी, ब्रजनेशचंद्र विद्यार्थी, लक्ष्मण स्वर्णकार, यमुना शर्मा, रवींद्र पांडेय, बेनी गुप्ता, अजरुन राम महतो, बड़कुंवर गगराई, श्रवण कुमार, भगवान सिंह, अशोक चौधरी, केएन मिश्र, गीता बलमुचू, माया सिंह, विशाखा सिंह सहित कई लोग शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: झारखंड एनडीए का जंतर-मंतर पर धरना