अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महंगाई मुद्दे पर लड़ेंगे लोस चुनाव

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि वे आगामी लोकसभा चुनाव ‘केन्द्र द्वारा बिहार की उपेक्षा’ के मुद्दे पर लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि मौजूदा दौर में सरकार रहे या जाए, इससे अधिक फर्क नहीं पड़ता, वे चुनाव के लिए तैयार हैं। सोमवार को जनता दरबार के बाद पत्रकारों से बात करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव एटमी डील पर नहीं बल्कि महंगाई जैसे मुद्दे पर लड़ा जाएगा।ड्ढr ड्ढr यह सबसे अहम मुद्दा होगा। करार के पक्ष या विपक्ष में तर्क हो सकते हैं, लेकिन महंगाई के पक्ष में कोई नहीं। हालांकि वे बिहार में इस मुद्दे के साथ ही केन्द्र की उपेक्षा को भी प्रमुख मुद्दा बनाएंगे। हम जनता को बताएंगे कि किस तरह हर क्षेत्र में बिहार की उपेक्षा की जा रही है। राशन-किरासन हो या बाढ़ पीड़ितों के बीच चलाए जाने वाले राहत कार्यों की प्रतिपूर्ति, केन्द्र बिहार के साथ भेदभाव कर रहा है। आज एटमी डील के माध्यम से ऊर्जा की बात की जा रही है, लेकिन बिहार में इथेनॉल बनाने पर रोक लगाकर यूपीए ने यह दिखा दिया कि ऊर्जा की बात महज राजनीतिक है।ड्ढr ड्ढr बिहार इथेनॉल के क्षेत्र में बड़ी ताकत बनने की क्षमता रखता है, इसीलिए केन्द्र ने बिहार के मार्ग में अवरोध खड़ा कर दिया। अब उन्हें एटमी डील नजर आ रहा है। एटमी ऊर्जा भविष्य की बात है, लेकिन इथेनॉल प्लांट तो दो वर्षो में लग जाता। प्लांट से बिजली भी पैदा होती।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: महंगाई मुद्दे पर लड़ेंगे लोस चुनाव