DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीजिंग में मिरकल की उम्मीद न करं देशवासी : कलमाडी

बीजिंग ओलंपिक शुरू होने में मुश्किल से एक पखवाड़ा बचा है। भारतीय ओलंपिक संघ के अध्यक्ष सुरश कलमाडी देशवासियों को धोखे में नहीं रखना चाहते। यही कारण है कि उन्होंने साफ कर दिया है कि लोग बीजिंग ओलंपिक में भारतीय एथलीटों से किसी मिरकल की उम्मीद न करं। उन्होंने कहा, ‘हमारी सीनियर हॉकी टीम सुलतान अजलान शाह कप में रनर-अप रही और जूनियर ने कुछ दिन पहले ही एशिया कप जीता है। अब हमें बैठ कर हॉकी का रोडमैप तैयार करना होगा।’ बोरिया मजूमदार और नलिन मेहता की किताब ‘ओलंपिक : द इंडियन स्टोरी’ के रिलीज के मौके पर कलमाडी ने कहा, ‘अन्य खेलों में भी हमार एथलीट अच्छा जरूर कर रहे हैं लेकिन चीन में ज्यादा पदक की उम्मीद न करं।’ उन्होंने कहा, ‘तीरंदाज और निशानेबाज अच्छे फॉर्म में नजर आ रहे हैं।’ कलमाडी ने कहा कि आईओए 2010 में दिल्ली में होने वाले कॉमनवेल्थ खेलों पर फोकस किए है। इसके बाद 2012 लंदन ओलंपिक भारत का असल टारगेट होगा। कलमाडी ने आगे कहा, ‘सरकार ने 2010 कॉमनवेल्थ खेलों के लिए 700 करोड़ रुपए मंजूर किए हैं। यह पैसा एथलीटों की 310 दिन की ट्रेनिंग पर खर्च किया जाएगा। हमें 2010 दिल्ली खेलों का सफल आयोजन करना है। असल में यही लंदन ओलंपिक के लिए हमारा आधार तय करगा। हमें दिल्ली कॉमनवेल्थ खेलों में कम से कम दूसरा स्थान पर आना है। इसके बाद हम लंदन ओलंपिक के लिए चार्ज-अप होंगे।’ कलमाडी ने कॉरपोरट घराने से भी अपील की कि क्रिकेट के साथ-साथ ओलंपिक स्पोर्ट्स को भी सपोर्ट करं। उन्होंने कहा, ‘औद्योगिक घरानों को आगे आना चाहिए। उन्हें नहीं पता कि एक ओलंपिक पदक उन्हें कितना माइलेज दे सकता है।’ कलमाडी ने कहा कि यह समय है भारतीय हॉकी का रोडमैप तैयार करने का। हमारी सीनियर और जूनियर टीमें इस समय शानदार प्रदर्शन कर रही हैं।ड्ढr आईओए के महासचिव रणधीर सिंह ने भी कलमाडी के सुर में सुर मिलाते हुए कहा, इन दिनों सारी तवज्जौ क्रिकेट को दी जा रही है। अब समय आ गया है जब कॉरपोरट घरानों को ओलंपिक खेलों पर भी अपना ध्यान केन्द्रित करना चाहिए। रणधीर ने कहा, ‘ओलंपिक खेलों में हम काफी पीछे हैं। इन खेलों के लिए जितना पैसे की जरूरत है उतना यहां नहीं रहा है। सारी तवज्जौ क्रिकेट को ही दी जा रही है।’ उन्होंने कहा, ‘हमें जल्द ही वैल्यू एजूकेशन प्रोग्राम लागू करना है। इस तरह का प्रोग्राम चीन और अन्य देशों में भी चल रहा है। हम इस प्रोग्राम को अक्तूबर में शुरू करंगे जब अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक कमेटी के अध्यक्ष जक्स रोगे कॉमनवेल्थ यूथ खेलों के दौरान पुणे में उपस्थित रहेंगे।’ (प्रे.ट्र.)ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मिरकल की उम्मीद न करं देशवासी : कलमाडी