DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दोबारा सत्ता पाने में जुटीं वसुंधरा राजे

राजस्थान को बीमारू राज्यों की श्रेणी से निकाल कर ऐतिहासिक विकास करने के दावों के बावजूद मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को जनता जनार्दन पर कम ही भरोसा है । शायद इसीलिए सत्ता में दोबारा आने के लिए वे देवी-देवताओं को प्रसन्न करने में जुट गई हैं। इसके लिये मुख्यमंत्री के आधिकारिक निवास में श्रीमद्भागवत महापुराण कथा करवाई जा रही है। कथा के लिए खास तौर पर वृंदावन से महाराज राजेश गोस्वामी को बुलाया गया है। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने सोमवार को दिल्ली रवाना होने से पहले अपनी पुत्रवधू निहारिका सिंह के साथ विधि-विधान से मंत्रोच्चारण के बीच पूजा-अर्चना करके एक सप्ताह चलने वाली कथा का शुभारम्भ किया। दोनों ने पहले मुख्यमंत्री निवास स्थित राज राजेश्वरी माता के मंदिर में भागवत एवं देवी पूजन किया। इसके बाद मंदिर से कथा स्थल तक कलश यात्रा निकाली गई, जिसमें मुख्यमंत्री, उनकी पुत्रवधू एवं अन्य महिलाएं सिर पर कलश लेकर चलीं। इसके बाद आचार्य जयनारायण शास्त्री, भास्कर शास्त्री एवं रविन्द्र शास्त्री ने गणेश, गौरी आदि देवताओं, नवग्रहों, वेदों एवं पुराणों की पूजा करवाई। इस अवसर पर मंत्रिमण्डल के सदस्य एवं भाजपा के पदाधिकारी मौजूद थे। भाजपा के प्रदेश महामंत्री रामपाल जाट ने कहा कि मुख्यमंत्री धार्मिक प्रवृत्ति की हैं। इसलिए उनके कार्यकाल में सभी प्रमुख मंदिरों के विकास पर काफी खर्च किया गया है। इसके अलावा उन्होंने प्रदेश को विकास के रास्ते पर डाला है। यह क्रम जारी रहे इसलिए चुनाव में सफलता के लिये देवताओं से आशीर्वाद लेने के लिए यह कार्यक्रम किया जा रहा है।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दोबारा सत्ता पाने में जुटीं वसुंधरा राजे