DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भाजयुमो ने दिल्ली रैली की तैयारी शुरू की

भारतीय जनता युवा मोर्चा ने अगस्त को दिल्ली के रामलीला मैदान में होने वाली रैली के लिए राज्यस्तरीय तैयारी शुरू कर दी है। मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं बिहार प्रभारी विवेक ठाकुर और संजय चौरसिया के साथ ही राष्ट्रीय कार्यसमिति सदस्य मिथिलेश तिवारी ने कहा है कि सभी जिलों में इस कार्यक्रम से युवाओं को जोड़ने की कवायद शुरू कर दीड्ढr गई है। उन्होंने कहा है कि युवा क्रांति प्रतिनिधि सभा में बड़ी संख्या में मोर्चा कार्यकर्ताओं की शिरकत को राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित ठाकर द्वारा सराहे जाने से सूबे में उत्साह की नई लहर दौड़ गई है। इसके मद्देनजर मोर्चा के प्रदेशड्ढr अध्यक्ष प्रदीप दूबे ने दावा किया है कि बिहार से मोर्चा के 10 हजार से अधिक कार्यकर्ता दिल्ली के लिए रवाना होंगे। 11 डायट व पीटीईसी में दो वर्षीय सेवा पूर्व प्रशिक्षण की क्षाजतड्ढr पटना (हि.ब्यू.)। मानव संसाधन विकास विभाग ने प्रथम चरण में राज्य के 11 जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थानों (डायट) और प्राथमिक शिक्षक शिक्षा कालेजों (पीटीईसी) में दो वर्षीय सेवा पूर्व प्रशिक्षण शुरू करने की इजाजत दे दी है। इनमें विक्रम (पटना), नूरसराय (नालंदा), गया, दीघी (वैशाली), सीवान, कुमारबाग (पश्चिम चम्पारण) एवं पूसा (समस्तीपुर) के डायट और महेन्द्रू (पटना), रामबाग एवं पताही (मुजफ्फरपुर) और रोहतास के पीटीईसी में इसी सत्र से ट्रनिंग प्रारम्भ हो जाएगी। इनमें से दीघी, सीवान और पूसा के डायट एवं रामबाग स्थित पीटीईसी को महिला ट्रनीज की ट्रनिंग के लिए चुना गया है। इस बाबत निदेशक (शोध एवं प्रशिक्षण) द्वारा राज्य के सभी डायट और पीटीईसी के प्राचार्यों को भेजे गए पत्र में कहा गया है कि राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) द्वारा मान्यताप्राप्त उन सभी संस्थानों में प्रशिक्षण शुरू किया जा सकता है जहां 50 छात्रों के लिए हास्टल, शौचालय, चापाकल आदि की सुविधा हो। इच्छुक संस्थानों को विभाग को अभ्यावेदन देना होगा जिस पर विचार के बाद उनको इसी सत्र से ट्रनिंग शुरू करने की इजाजत दी जा सकेगी। विभाग द्वारा दोनों तरह के संस्थानों में नामांकन के लिए गाइडलाइन पहले ही जारी की जा चुकी है। चुनाव आयोग भी तैयारियों में जुटाड्ढr पटना (हि.ब्यू.)। केन्द्र में सरकार को लेकर राजनीतिक पार्टियों के मूड को देखते हुए चुनाव आयोग भी तैयारियों में जुट गया है। आयोग के सूत्रों की मानें तो सितम्बर मध्य के बाद आयोग चुनाव कराने के लिए तैयार होगा।ड्ढr बिहार में चुनावी तैयारियां उसी हिसाब से चल रही हैं। नए परिसीमन के आधार पर फोटोयुक्त मतदाता सूची से लेकर बूथों के पुनर्गठन की प्रक्रिया चल रही है। 15 सितम्बर तक फोटोयुक्त मतदाता सूची का फाइनल प्रकाशन होगा। इसके साथ ही बूथों के पुनर्गठन की प्रक्रिया भी अंतिम चरण में है। आयोग ने कमजोर मतदाताओं के लिए इस बार नई पहल भी की है। ग्रामीण इलाकों में हर तीन सौ मतदाताओं की संख्या पर एक बूथ होगा। यह व्यवस्था इसलिए की जा रही है ताकि कमजोर मतदाता बूथों तक पहुंचकर अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकें। राज्य निर्वाचन विभाग के सूत्रों की मानें तो चुनाव आयोग के निर्देश पर चल रही चुनावी तैयारियां 15 सितम्बर तक पूरी कर लिए जाने की उम्मीद है। बूथों के युक्ितकरण का काम लगभग पूरा हो गया है। और निर्वाचन विभाग के अधिकारी तैयार नक्शों को लेकर फिलहाल दिल्ली में हैं। इांीनियर पर मुकदमाड्ढr पटना (हि.प्र.)। बिना सड़क बनाए ही सरकार द्वारा आंवटित 60 हजार रुपया को फर्जी ढंग से निकालकर पथ निर्माण विभाग बिहारशरीफ के कार्यपालक अभिंयता ने बंदरबांट कर लिया। घोटाले के इस मामले में निगरानी अन्वेषण ब्यूरो ने सोमवार को पथ निमार्ण विभाग बिहारशरीफ के तत्कालीन कार्यपालक अभिंयता कृष्ण मुरारी प्रसाद और तत्कालीन रोकड़पाल सुरन्द्र प्रसाद सिंह के खिलाफ जालसाजी, धोखाधड़ी औरभ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया है।ड्ढr ड्ढr नई शिक्षा योजनाड्ढr पटना (हि.ब्यू.)। सरकार महादलितों के बच्चों के लिए नई शिक्षा योजना शुरू करगी। इस वर्ग के छात्र-छात्राओं के लिए राज्य में ‘उत्थान’ नाम की यह योजना सर्व शिक्षा अभियान के तहत लागू होगी। इसके तहत प्राथमिक विद्यालय खोलने के लिए मौजूदा दो प्रमुख नियमों-एक किलोमीटर के दायर में कोई दूसरा प्रारम्भिक विद्यालय नहीं होने और वहां की आबादी कम से कम 300 होनी चाहिए, में ढील दी जाएगी।ड्ढr ड्ढr बैचलर की उपाधियांड्ढr पटना(हि.ब्यू.)। राजधानी स्थित निफ्ट सेंटर से फैशन तथा डिजाइन टेक्नोलॉजी में बैचलर की उपाधियां दी जायेंगी। उद्योग विभाग के मुताबिक केंद्रीय वस्त्र मंत्रालय के बोर्ड ऑफ गवर्नर्स द्वारा पटना निफ्ट सेंटर के शैक्षणिक कार्यक्रम निर्धारित किए गए हैं। इस संस्थान को ‘बैचलर ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी इन डिजाइन’ में फैशन डिजाइन एक्सेसरी डिजाइन, टेक्सटाइल डिजाइन तथा कम्यूनिकेशन डिजाइन के अलग-अलग चार वर्षीय पाठ्यक्रम को मान्यता दी गयी है।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एक नजर