DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जिम्मेदार इंचाीनियरों पर कार्रवाई शुरू

पथ निर्माण मंत्री ने सड़कों की दुर्दशा के जिम्मेदार इंजीनियरों पर कार्रवाई शुरू कर दी है। करीब तीन महीने से लगातार सड़कों का निरीक्षण कर रहे मंत्री की गाज सबसे पहले राष्ट्रीय उच्चपथों (एनएच) के इंजीनियरों पर गिरी है। पटना जहानाबाद-डोभी पथ की जर्जरता के लिए जिम्मेवार एक्जीक्यूटिव इंजीनियर रामानन्द महतो और पटना-छपरा एनएच की दुर्दशा के लिए जिम्मेवार एक्जीक्यूटिव इंजीनियर विजय कुमार मिश्र को वापस मुख्यालय बुला विभागीय कार्रवाई शुरू की गई है। वहीं हाजीपुर के सुपरिटेंडिंग इंजीनियर एवं एनएच प्रभाग के चीफ इंजीनियर पर विभागीय कार्रवाई शुरू करने का कड़ाई से निर्देश जारी किया गया है।ड्ढr ड्ढr सचिवालय स्थित कार्यालय में संवाददाता सम्मेलन में पथ निर्माण मंत्री प्रेम कुमार ने कहा कि अब किसी भी सूरत में कोताही करने वाले इंजीनियर बख्शे नहीं जाएंगे। इसी नीति के तहत दो एक्जीक्यूटिव इंजीनियरों पर कार्रवाई करते हुए एक्जीक्यूटिव इंजीनियर अमीर हसन को छपरा एवं एक्जीक्यूटिव इंजीनियर फिरोज खान को जहानाबाद सड़क के निर्माण की जिम्मेवारी दी गई है। उन्होंने बताया कि विभाग का एनएच प्रभाग इतना शिथिल है कि छह चेकपोस्टों के निर्माण की अवधि समाप्त होने के बाद भी मात्र 20 से 30 फीसदी ही काम हो पाया है। बक्सर जिला में सोहनीपट्टी, गया में डोभी, पूर्णिया में डालकोला, नवादा में रजौली, भभुआ में कर्मनाशा और गोपालगंज जिले में जलालपुर में वाणिज्यकर विभाग ने चेकपोस्ट निर्माण का काम पथ निर्माण विभाग को सौंपा है। पर पथ निर्माण विभाग के इंजीनियर शिथिल पड़े हुए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जिम्मेदार इंचाीनियरों पर कार्रवाई शुरू