DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नकली पास्टरों ने भंडरा के लोगों को भी लगाया चूना

झारखंड में सक्रिय नकली पास्टरों ने भंडरा प्रखंड क्षेत्र में भी करीब चार हाार लोगों को ठगी का शिकार बनाया है। यह ठगी बच्चों को मुफ्त शिक्षा और वजीफा देने के नाम पर की गयी है। ठगी के शिकार अधिकांश ईसाई बने हैं। एक अनुमान के अनुसार चार हाार लोगों को चूना लगाया गया है।ड्ढr करीब तीन वर्ष पूर्व बलसोता के एमानुएल इंगलिश मीडियम स्कूल में ठगी का यह खेल हुआ था। जहां बच्चों को मुफ्त शिक्षा का लालच देकर करीब चार हाार बच्चों का नामांकन कराया गया और सभी से रािस्ट्रेशन के नाम पर 700 से 2000 रुपये लिये गये। दिलचस्प बात यह है कि यहां इस विद्यालय का नामोनिशान भी नहीं है। ठगी के शिकार अभिभावक उक्त विद्यालय का चक्कर भी काटे। बाद में उन्हें एहसास हो गया कि वे ठगे गये हैं। नकली पास्टरों की ठगी के शिकार लोगों की यहां लंबी फेहरिस्त है। प्रख्ांड के ब्राह्मणडीहा गांव के करीब डेढ़ दर्जन ग्रामीणों ने अपने बच्चों का रािस्ट्रेशन यहां कराया था। गांव के सामेल मिंज ने बताया कि सात-सात सौ रुपये देकर अपने दो बच्चों का रािस्ट्रेशन कराया था। नि:शुल्क शिक्षा की जानकारी उन्हें पादरी अनुप बाड़ा ने दी थी। रािस्ट्रेशन के एक साल बाद भी जब कोई खोज-खबर नहीं ली गयी, तो वे विद्यालय संचालक एमानुएल मिंज को ढूंढ़ने का प्रयास किये, लेकिन वे नहीं मिले। गांव के आनंद टोप्पो, द्वितीया उरांव, बिगल उरांव, जतरू उरांव ने भी अपने बच्चों का रािस्ट्रेशन कराया था। ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नकली पास्टरों ने भंडरा के लोगों को भी लगाया चूना