अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अल कायदा कमांडर ने ली 9-11 हमले की जिम्मेदारी

आतंकवादी संगठन अल कायदा के वरिष्ठ कमांडर अबु अल याजिद ने इस बात का खुलासा किया है कि अमेरिका में 11 सितंबर 2001 को हुए हमले में उसके संगठन का हाथ है। याजिद ने यह भी कहा कि इस्लामाबाद स्थित डेनमार्क के दूतावास के अलावा तंजानिया और केन्या स्थिति अमेरिकी दूतावासों पर हुए हमले के लिए भी अल कायदा ही जिम्मेदार है। उसने दावा किया कि अल कायदा अफगानिस्तान में तेजी से अपनी जडें़ जमा रहा है और जल्द ही वह पूरे देश को अपनी गिरफ्त में ले लेगा। उसने कहा कि अफगानिस्तान में उसके लड़ाकों का मनोबल बढ़ा है और अमेरिकी अगुवाई वाली गठबंधन सेना को कड़ी चुनौती दे रहे हैं। करजई सरकार का भी वही हश्र होगा जैसा अन्य दुश्मनों का हुआ है। कोई ऐसी सरकार नहीं है जो अल कायदा का समर्थन करती है और इस प्रकार शासकों ने ऐसा करके अपना विश्वास खो दिया है तथा इस्लाम से दूर हो गए। हालांकि अल कायदा कमांडर का कहना है कि पाकिस्तान ने उसके आतंकवादी संगठन के लिए सबसे अधिक मुश्किलें खड़ी की हैं। उसने कहा कि मुजाहिदीनों को सबसे अधिक नुकसान पाकिस्तान की सरकार ने पहुंचाया। परवेज मुशर्रफ ने सबसे पहले पड़ोसी देश के मुजाहिदों पर जुल्म ढाने शुरु किए थे। मुशर्रफ के लोगों ने उन्हें हिंसा करने के आरोप में गिरफ्तार किया और उन्हें अमेरिका के हवाले कर दिया। हम इसे नहीं भूल सकते।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अल कायदा कमांडर ने ली 9-11 हमले की जिम्मेदारी