DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सोमनाथ पर कार्रवाई से बोलपुर नाखुश

सोमनाथ चटर्ाी को माकपा से बहिष्कृत करने के फैसले से उनके संसदीय क्षेत्र बोलपुर के लोग आहत हैं। इस फैसले को पार्टी का एक हिस्सा गलत भी करार दे रहा है। बोलपुर में जिससे भी इस संवाददाता की बात हुई, सभी ने इस फैसले को कोसा। विश्वभारती विश्वविद्यालय के अध्यापक डा. एस.के. त्रिपाठी ने हिन्दुस्तान से कहा कि सोमनाथ दा को माकपा से निकालने का फैसला गलत है। परिसीमन के बाद बोलपुर संसदीय क्षेत्र संरक्षित हो गया था और सोमनाथ दा एलान कर चुके थे कि अगला संसदीय चुनाव नहीं लड़ेंगे। शांतिनिकेतन-श्रीनिकेतन विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष पद से उन्होंने भी इस्तीफा दे दिया था। फिर पार्टी से निकालने का क्या तुक था? शांतिनिकेतन में एमए की छात्रा नंदिनी ने कहा कि माकपा का यह फैसला आत्मघाती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सोमनाथ पर कार्रवाई से बोलपुर नाखुश