DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सड़क ठेकेदारों को अब मिलेगी राहत

सड़क ठेकेदारों को अब राहत मिलने जा रही है। सड़क निर्माण कराने के लिए पथ निर्माण विभाग ने ठेकेदारों को रियायत देने का निर्णय किया है। अब समय पर काम पूरा नहीं कर पाने वाले ठेकेदारों को निविदा रद्द करने के पहले एक और मौका दिया जाएगा। पथ निर्माण मंत्री की इच्छा के मुताबिक ठेकेदारों से लिखित आश्वासन (अंडरटेकिंग) लेकर काम पूरा करने का निर्देश दिया जाएगा। इससे अधूरी सड़कों के निर्माण का रास्ता साफ होगा और विभाग को कोर्ट-कचहरी की झंझट से भी मुक्ित मिलेगी।ड्ढr ड्ढr पथ निर्माण विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक कई तरह की कड़ाई के बावजूद सूबे के सड़कों का निर्माण तय समय पर पूरा नहीं हो पा रहा है। स्थिति यह है कि अनेक कार्य प्रमंडलों में समय पर काम पूरा नहीं करने के आरोप में डेढ़ दर्जन से ऊपर कार्य रद्द कर दिये गये हैं। अररिया पथ प्रमंडल में एक, मधुबनी में एक, बिहारशरीफ में दो, छपरा में एक, मुजफ्फरपुर में चार, भागलपुर में छह, मधेपुरा में एक, हाजीपुर में एक, औरंगाबाद में एक, बक्सर में एक, गुलजारबाग में दो, भभुआ में एक और पटना स्थित राष्ट्रीय उच्च पथ प्रमंडल में एक कार्य रद्द किया गया है। कुछ संवेदकों को काली सूची में डाला गया है। विभाग के इस कड़े रवैये से परशान कुछ ठेकेदारों ने पथ निर्माण विभाग के तहत काम करने से अपने को अलग कर लिया है। जिलों से खराब सड़कों की लगातार शिकायत मिलने के बाद पथ निर्माण मंत्री ने अब पूर्व के निर्णयों को पलटते हुए ठेकेदारों को कुछ रियायत देकर सड़कों का निर्माण शुरू करवाने का फैसला किया है। पूछने पर श्री कुमार ने कहा कि एक सप्ताह के अन्दर इस संदर्भ में वास्तविक स्थिति स्पष्ट हो जाएगी। सरकार किसी भी सूरत में सड़क निर्माण के लिए कृतसंकल्प है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सड़क ठेकेदारों को अब मिलेगी राहत