अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डिप्टी सीएम मामला स्टीयरिंग कमेटी में

सीएम मधु कोड़ा ने कहा है कि किसी को डिप्टी सीएम या मंत्री बनाने, जसे विषयों पर स्टीयरिंग कमेटी की बैठक में ही विचार होगा। स्टीयरिंग कमेटी की बैठक गुरुाी के दिल्ली से लौटने के बाद उनकी इच्छा पर होगी, क्योंकि वही चेयरमैन हैं।ड्ढr जहां तक मेरी जानकारी में है, गुरुाी को केंद्र में मंत्री बनने की इच्छा है। उनका अधिकार बनता है। उन्हें उनका हक मिलना चाहिए। सीएम दिल्ली से लौटने के बाद बुधवार को प्रेस से बातचीत कर रहे थे। उनसे पूछा गया था कि गुरुाी और जेएमएम की ओर से सीएम बनाने, डिप्टी सीएम या मंत्री बनाने की मांग हो रही है। कोड़ा ने यह भी कहा कि फिलहाल राज्य में मंत्रिमंडल विस्तार की कोई योजना नहीं है। कोड़ा ने स्पष्ट किया कि गुरुाी की ओर से सीएम बनने की कोई मांग नहीं है। हां उन्होंने यूपीए की एकाुटता के लिए जरूर पद छोड़ने का ऑफर दिया था। यह पूछने पर कि अगर गुरुाी ने सीएम का पद मांगा तो? उन्होंने कहा कि उस वक्त देखा जायेगा। एक अन्य प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि अब तक उनके पास हेमंत सोरन को डिप्टी सीएम बनाने का कोई प्रस्ताव नहीं आया है। सीएम ने कहा कि झारखंड के विकास के प्रति गुरुाी की चिंता जायज है। उनके 13 सूत्री मांग पत्र में डीवीसी और कोल इंडिया का मुख्यालय रांची लाने की बात राज्यहित में है। सड़कों को फोर लेन और सिक्स लेन करने या पांच हाार करोड़ की मांग भी। बिजली और कोयला झारखंड में उत्पादित हो और मुख्यालय बाहर हो, यह उचित नहीं है। इसके लिए वह भी केंद्र के समक्ष दबाव बनायेंगे।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: डिप्टी सीएम मामला स्टीयरिंग कमेटी में