अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हर जिले में वीमेंस कॉलेज

ेंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री अजरुन सिंह ने झारखंड में खुल रही दो नयी यूनिवर्सिटी कोल्हान और नीलांबर पितांबर को यूजीसी की धारा 12 बी के तहत मान्यता देने का निर्देश दिया है।ड्ढr दिल्ली में शिक्षा मंत्रियों के दो दिनी सम्मेलन के अंतिम दिन 24 जुलाई को केंद्रीय मंत्री ने कहा कि झारखंड में नयी यूनिवर्सिटी की जरूरत को देखते हुए एसा किया जा रहा है। इस संबंध यूजीसी को आवश्यक निर्देश दिये जा रहे हैं। इसके अलावा राज्य के शिक्षा मंत्री बंधु तिर्की द्वारा आइआइटी खोलने के प्रस्ताव पर चर्चा करते हुए आइएसएम धनबाद को अपग्रेड कर आइआइटी बनाने का निर्णय लिया गया। केंद्र ने झारखंड से वीमेंस टेक्नीकल एजुकेशन इंस्टीट्यूट खोलने का प्रस्ताव मांगा है। साथ ही एक आइआइआइटी, स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी, फॉरस्ट कॉलेज, विजुअल एंड फाइन आर्ट्स इंस्टीट्यूट खोलने का भी प्रस्ताव केंद्र ने मांगा है।ड्ढr यहां नौकरी में स्थानीय लोगों को ज्यादा मौका मिले, इसके लिए उन्हें ट्रेनिंग देने की व्यवस्था करने का निर्देश केंद्र ने दिया है। इसके लिए राज्य में टेक्नीकल इंस्टीट्यूट खोलने का प्रस्ताव मांगा गया है। सभी स्कूलों एवं कॉलेजों में नेशनल ट्रांसलेशन मिशन के तहत स्थानीय भाषा में पुस्तकें उपलब्ध करायी जायेंगी। अब यूजीसी द्वारा यूनिविर्सटी को दी जानेवाली अनुदान राशि के खर्च में राज्य सरकार का भी हस्तक्षेप होगा। झारखंड के जिन जिलों में वीमेंस कॉलेज नहीं हैं, वहां हॉस्टल के साथ वीमेंस कॉलेज खोलने के लिए प्रस्ताव मांगा गया है। सम्मेलन में झारखंड के शिक्षा मंत्री के अलावा शिक्षा सचिव जेबी तुबिद एवं उच्च शिक्षा निदेशक डॉ अंजनी श्रीवास्तव शामिल हुए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हर जिले में वीमेंस कॉलेज