DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहटा में स्कूल में जमकर हंगामा

प्रखण्ड के राजकीय मध्य विद्यालय चीनी मिल बिहटा में स्थानांतरण प्रमाण पत्र के बदले इक्यावन रुपये मांगे जाने से आक्रोशित छात्रों ने जमकर हंगामा किया। साथ ही प्रबंधन के खिलाफ नारबाजी भी की। हालांकि विद्यालय के प्रधानाचार्य ने छात्रों के इस आरोप को निराधार व बेबुनियाद बताया है। मिली सूचना के अनुसार विद्यालय में पढ़ाई समाप्ति के बाद बच्चों को स्थानांतरण प्रमाण पत्र के लिए बुलाया गया था। छात्र जब पहुंचे तो उन्हें जानकारी मिली कि शिक्षक विद्यालय से विदाई के नाम पर बच्चों से एक सौ इक्यावन रुपये मांग रहे हैं।ड्ढr ड्ढr छात्रों को ये बातें नागवार लगीं। धीर-धीर विरोध पर उतर छात्रों को देख एक सौ इक्यावन से मामला सिर्फ इक्यावन पर आकर अटक गया। छात्रों को शिक्षकों ने बताया कि इक्यावन रुपए से कम नहीं लगेगा। इतना सुनते ही कई छात्र विद्यालय प्रबंधन के इस जोर जबरदस्ती के खिलाफ हंगामा करने लगे। घंटों हंगामा करने के बाद भी छात्रों को राहत न मिली। इस बाबत सतेन्द्र कुमार, सुनील कुमार, राम निवास, नीतीश कुमार, अमित कुमार, विकास कुमार गौतम, मीनू रविरंजन, राजकिशोर, राधे कृष्णा, सुनील सिंह सहित दर्जनों छात्रों ने बताया कि इसकी शिकायत वरीय अधिकारी से करंगे। उनका कहना था कि कई छात्र गरीब परिवार से आते हैं। अभिभावक पैसा नहीं देते कि सरकारी विद्यालय में पैसा नहीं लगता है। इस संबंध में पूछे जाने पर विद्यालय के प्राचार्य ने छात्रों के आरोप को बेबुनियाद बताया। साथ ही कहा कि चुनाव कार्य में शिक्षकों को लगाए जाने के कारण प्रमाण पत्र बनाने में विलम्ब हुआ है। लेकिन पैसे मांगनेड्ढr का आरोप गलत है। उन्होंने कहा कि जिस किसी भी छात्र को प्रमाण पत्र चाहिए सीधा हमार कार्यालय से संपर्क करें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बिहटा में स्कूल में जमकर हंगामा