अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गनीमत है बम ताकतवर नहीं थे

आतंकियों ने देश की सूचना प्रौद्योगिकी की प्रगति पर चोट और दहशतगर्दी के लिए शुक्रवार को सिलिकॉन वैली में नौ धमाके किए। गनीमत रही कि इस सिरीयल ब्लास्ट के नौ बमों में से सात कम क्षमता के थे वर्ना बड़ी तबाही होती। फिर भी इन धमाकों में एक महिला समेत दो व्यक्ित मार गए और 12 से यादा घायल हो गए। अमोनियम नाइट्रेट और यूरिया से बनाए गए इन बमों के धमाकों के पीछे सिमी या हूाी का हाथ मानाोा रहा है। 2005 में यहाँ भारतीय विज्ञान संस्थान पर आतंकी हमला हुआ था। आशंका यह भी व्यक्त कीोा रही है कि विस्फोटक लश्कर-ए-तैयबा ने दिए हों। विस्फोटक रसायन गमलों में नट-बोल्ट के साथ रखे गए थे। इन गमलों को खुली नालियों व बिाली ट्रांसफार्मरों और फुटपाथ पर छुपा कर रखा गया था ताकि किसी की निगाह न पड़े। धमाकों की आवाा ौसे ही गूँाी आईटी कंपनियाँ, मॉल, थिएटर, स्कूल-कॉलेा, दुकानें-वाणियिक प्रतिष्ठान सब बंद हो गए।ड्ढr सिटी पुलिस कमिशनर शंकर बिदरी ने बताया कि सात धमाके डेढ़ से ढाई बो के बीच हुए। आठवाँ धमाका मैसूर रोड पर स्थित गोपालन मॉल के निकट होसगुडहल्ली में शाम साढ़े पाँच बो हुआ।ोबकि नौवाँ ब्लास्ट मैसूर रोड पर ही स्थित आरवी इांीनियरिंग कॉलेा के पास साढ़े छह बो हुआ। बंगलुरु पुलिस ने इसे आतंकी साािश करार दिया है।ड्ढr बिदरी ने बताया कि पहले दो विस्फोट अडुगोडी में हुए। यह धमाके फोरम मॉल के पास हुएोो बंगलुरु का अग्रणी शॉपिंग स्थल है। माडीवाला में 1.50 बो विस्फोट हुआ, इसके बाद नयंदहल्ली में दो बाकर 10 मिनट पर धमाका हुआ। 2.10 से 2.30 बो के बीच माल्या हॉस्पिटल के पास एक पार्क, रिचमंड सर्किल और लैंगफोर्ड रोड पर कम तीव्रता वाले धमाके हुए। धमाके में मारी गई महिला की पहचान 48 वर्षीय सुधा के रूप में हुई है,ोो अपने पति के साथ बस का इंताार कर रही थी कि विस्फोट हो गया। विस्फोट के साथ ही एक बोल्ट महिला के सिर परोा लगा। उसका पति रवि बुरी तरह घायल है। पाँच अन्य लोग भी धमाके मेंोख्मी हुए हैं। दूसर ब्लास्ट में आधा र्दान से अधिक लोग घायल हो गए। शुरुआतीोाँच में कहाोा रहा है कि बम टाइमर डिवाइस सेोुड़े थे और मोबाइल फोन केोरिए धमाके किए गए। इस विधि का इस्तेमाल हैदराबाद के ट्विन ब्लास्ट औरोयपुर व आमेर धमाकों में हुआ था। पुलिस का कहना है कि लोगों को डराने और कानून व्यवस्था चौपट करने के लिए ये धमाके कराए गए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: गनीमत है बम ताकतवर नहीं थे