DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हैदराबाद के जैसा ही है बेंगलुरु विस्फोट!

र्नाटक की राजधानी बंगलौर में शुक्रवार के सिलसिलेवार बम धमाकों ने पिछले साल हैदराबाद में हुए विस्फोटों की याद ताजा कर दी। हैदराबाद के विस्फोटों में 50 से ज्यादा लोग मारे गए थे, लेकिन इनकी जांच में जुटे अधिकारी अभी तक किसी नतीजे पर नहीं पहुंचे हैं। बेंगलुरु में हुए आठ धमाकों में एक महिला की मौत हो गई, जबकि सात लोग घायल हो गए। ये विस्फोट हैदराबाद में हुए विस्फोट की जांच में काफी महत्वपूर्ण हो सकते हैं, क्योंकि माना जा रहा है कि दोनों घटनाओं को समान आतंकवादी समूहों ने अंजाम दिया है। जांच अधिकारियों ने कबूल किया है कि हैदराबाद धमाके से सीधे तौर पर जुड़े किसी भी आतंकवादी की गिरफ्तारी नहीं की गई है और न ही अभी तक किसी के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया गया है। हैदराबाद की मक्का मस्जिद में पिछले साल 18 मई को हुए धमाके में नौ लोग मारे गए थे, जबकि 25 अगस्त को शहर में हुए दो धमाकों में 43 लोग मारे गए थे। मा मस्जिद में हुए विस्फोटों की जांच का जिम्मा केंद्रीय जांच ब्यूरो को सौंप दिया गया है, लेकिन जांच अभी तक बेनतीजा रही है। राज्य के गृहमंत्री के जना रेड्डी स्वयं कह चुके हैं कि तीनों विस्फोटों से जुड़े किसी भी व्यक्ित को गिरफ्तार नहीं किया जा सका है। जांच एजेंसियों ने बांग्लादेश स्थित आतंकवादी संगठन हरकतुल जेहाद ए इस्लामी (हूजी) और पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई का हाथ होने की बात कही है, लेकिन कोई नहीं जानता कि इस घटना को किसने अंजाम दिया और इसके पीछे किसका दिमाग था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हैदराबाद के जैसा ही है बेंगलुरु विस्फोट!