class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोलंबो टेस्ट : भारतपारी और 239 रन से हारा

सिंहली स्पोर्ट्स क्लब क्रिकेट मैदान पर खेले गए पहले टेस्ट मैच में श्रीलंका ने भारत को एक पारी और 23रनों से पराजित कर दिया। पहली पारी में श्रीलंका के स्कोर 6 विकेट पर 600 (घोषित) के जवाब में अपनी पहली पारी में 233 रन बनाने वाली भारतीय टीम फालोऑन खेलते हुए दूसरी पारी में महज 45 ओवरों में 138 रन बनाकर आउट हो गई। श्रीलंका की टीम तीन मैचों की टेस्ट श्रंखला में 1-0 से आगे हो गई है। श्रीलंका की जीत में महान स्पिन गेंदबाज मुथैया मुरलीधरन की अहम भूमिका रही। मुरली ने कहर बरपाते हुए मैच में 110 रन देकर 11 विकेट झटके। अपना पहला टेस्ट मैच खेल रहे युवा स्पिनर असंथा मेंडिस भी आठ विकेट चटकाने में सफल रहे। चायकाल तक 103 रन पर छह विकेट गंवाने वाली भारतीय टीम ने तीसरे और आखिरी सत्र के दौरान महज छह ओवर में श्रीलंकाई स्पिनरों के सामने घुटने टेक दिए। भारत की ओर से सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने सबसे अधिक 43 रन बनाए। भारत का पहला विकेट भोजनावकाश से ठीक पहले सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग के रूप में गिरा था। सहवाग ने 13 रन बनाए। भारतीय टीम ने अपना दूसरा विकेट वीवीएस लक्ष्मण के रूप में 57 रन के कुल योग पर गंवाया। पहली पारी में सबसे अधिक 56 रन बनाने वाले लक्ष्मण को पदोन्नत करके तीसरे क्रम पर भेजा गया था, लेकिन वह 21 रन बनाने के बाद मेंडिस की गेंद पर पगबाधा करार दिए गए। तीसरे विकेट के रूप में भारत को सचिन तेंदुलकर से बड़ी पारी की उम्मीद थी, लेकिन वह भी सस्ते में आउट हुए। 12 रन बनाने वाले सचिन का विकेट 82 के कुल योग पर गिरा। उन्हें मुरलीधरन ने तिलकरत्ने दिलशान के हाथों कैच कराया। अच्छी लय में दिख रहे सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर के रूप में भारत का चौथा विकेट गिरा। गंभीर ने 0 गेंद पर चार चौकों की मदद से 43 रन बनाए। उन्हें मुथैया मुरलीधरन ने विकेट के पीछे एच जयवर्धने के हाथों स्टंप कराया। भारत ने अपना पांचवां विकेट पूर्व कप्तान सौरव गांगुली के रूप में गंवाया। गांगुली 04 रन बनाकर मुरलीधरन की गेंद पर तिलकरत्ने दिलशान के हाथों लपके गए। मुरली ने मैच में अपने हिस्से का नौवां विकेट झटका। भारत का छठा विकेट राहुल द्रविड़ के रूप में गिरा। द्रविड़ 10 रन असंथा मेंडिस की गेंद पर वर्णपुरा के हाथों लपके गए। भारत का सातवां विकेट दिनेश कार्तिक के रूप में गिरा। कार्तिक को मुथैया मुरलीधरन ने कप्तान माहेला जयवर्धने के हाथों लपकवाया। कार्तिक अपना खाता भी नहीं खोल सके। कार्तिक के रूप में मुरली ने इस मैच में अपना दसवां विकेट चटकाया। भारत का आठवां विकेट कप्तान अनिल कुंबले के रूप में गिरा। उन्हें मुथैया मुरलीधरन ने 12 रनों के निजी स्कोर पर बोल्ड किया। मुरलीधरन ने इस तरह मैच में अपना 11वां विकेट झटका। इसके बाद तो श्रीलंका की जीत की महज औपचारिकता रह गई थी। मेंडिस ने नौवें विकेट के रूप में हरभजन सिंह और दसवें विकेट के रूप में जहीर खान को आउट कर इस पर मुहर लगा दी। इशांत शर्मा पांच रन बनाकर अविजित रहे। इससे पहले, तीसरे दिन के अपने स्कोर 6 विकेट पर 15रन से आगे खेलने उतरी भारतीय टीम अपनी पहली पारी के कुल योग में 64 रन जोड़ने के बाद सिमट गई थी। भारत की ओर से वीवीएस लक्ष्मण ने सर्वाधिक 56 रन बनाए। लक्ष्मण तीसरे दिन 1रन पर नाबाद लौटे थे। लक्ष्मण ने 118 गेंद खेलकर छह चौके लगाए। तीसरे दिन एक रन पर नाबाद लौटने वाले कप्तान अनिल कुंबले अपने स्कोर में एक रन का भी इजाफा नहीं कर सके और असंथा मेंडिस की गेंद पर पगबाधा आउट हुए। हरभजन सिंह ने नौ रन बनाए, जबकि जहीर खान पांच रन पर आउट हुए। इशांत शर्मा 13 रन बनाकर अविजित लौटे। चौथे दिन के पहले सत्र में मेंडिस और मुरलीधरन ने पहली पारी में भारत के सभी विकेट झटके। मुरलीधरन ने सबसे अधिक पांच विकेट लिए, जबकि अपना पहला टेस्ट खेल रहे मेंडिस ने चार विकेट लिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कोलंबो टेस्ट : भारतपारी और 239 रन से हारा