DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तुपुदाना ग्रेनाइट प्लांट बंद

रांची। राज्य की एकमात्र सार्वजनिक क्षेत्र की ग्रेनाइट फैक्ट्री लीज और संसाधन के अभाव में तुपुदाना ग्रेनाइट प्लांट बंद है। झारखंड राज्य खनिज विकास निगम की तुपुदाना ग्रेनाइट प्लांट को ग्रेनाइट लीज नहीं मिली है। खान एवं भूतत्व विभाग ने कोडरमा में मरकच्चो और खूंटी में चिलांगी ग्रेनाइट माइंस की अनुशंसा की है। फारस्ट क्लीयरंस और प्रदूषण नियत्रंण पर्षद में एनओसी लंबित है। इसलिए लीज आबंटन की प्रक्रिया पूरी नहीं हो पा रही है।ड्ढr एकीकृत बिहार के दौरान सैंपल टेस्टिंग के लिए तुपुदाना में यह प्लांट लगाया गया था। बाद में इसका कामर्शियल उपयोग होने लगा। पहले निजी खदानों से ग्रेनाइट खरीद कर कटिंग और पॉलिसिंग होती थी। यह कार्य केरोसिन से होता था। अब यह काफी महंगा हो गया है और जरूरत के मुताबिक सरकार से कोटा मिलता नहीं है। इधर निजी लीज धारियों ने प्लांट को पत्थर देना भी बंद कर दिया है। इसी वजह से यह फैक्ट्री बंद हो गयी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: तुपुदाना ग्रेनाइट प्लांट बंद