DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जम्मू मंे फिचचर कफ्यरू, नहीं थमी हिंसा

पिछले तीन दिनां की हिंसा क बाद दर रात प्रशासन न हालात सुधारन की कवायद मं फिर जम्मू मं बमियादी कफ्यरू लगान का सहारा लिया लकिन कफ्यरू की पाबंदियां भी लागां का घरां स बाहर निकल परड ग्राउंड मं हान जा रही संकल्प रैली मं शामिल हान स नहीं राक पाइर्ं। हालांकि पुलिस न संकल्प रैली मं शामिल हान जा रह सैंकड़ां लागां का गिरफ्तार कर लिया जबकि जम्मू क विभिन्न भागां मं आज भी हिंसा का क्रम जारी रहा जिसमं बीसियां लागां क जख्मी हान की खबर है।ड्ढr ड्ढr कल जम कर हुई हिंसा क बाद प्रशासन उस समय घबरा गया था जब अमरनाथ यात्रा संघर्ष समिति न आज दिन मं परड ग्राउंड पहुंच कर संकल्प रैली मं हिस्सा लन क लिए लागां का आमंत्रित किया था। नतीजतन रात 12 बज क करीब प्रशासन न बमियादी कफ्यरू लगा दिया। पिछल तीन दिनां स जारी हिंसा का राकन का प्रशासन क पास इसक सिवाय काई रास्ता नहीं रह गया था। मगर यह भी प्रयास उसक काम इसलिए नहीं आया क्यांकि समिति क आह्वान पर हजारां लाग परड ग्राउंड की आर सुबह स ही बढ़न लग थ। व कफ्यरू पाबंदियां का उल्लंघन करत हुए राज्य क विभिन्न भागां स पहुंच थ।ड्ढr बाहर स आन वालां का पुलिस न राकन का प्रयास किया ता प्रदर्शनकारी पथराव तथा साड़फूंक पर उतर आए। कई स्थानां पर दिनभर हिंसा हाती रही। बीसियां लाग हिंसा, पथराव, पुलिस फायरिंग तथा लाठीचार्ज मं जख्मी हा गए। संकल्प रैली मं हिस्सा लन परड ग्राउंड मं पहुंचन मं कामयाब रह संघर्ष समिति क नताआं, भाजपा व अन्य हिन्दू संगठनां क नताआं पर पुलिस न पहल जम कर लाठियां बरसाईं और बाद मं सैंकड़ां लागां का गिरफ्तार कर पुलिस अज्ञात स्थान पर ल गई। नतीजतन अमरनाथ विवाद पर न ही हिंसा कम हा रही है और न ही प्रदर्शन रूकन का नाम ल रह हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जम्मू मंे फिचचर कफ्यरू, नहीं थमी हिंसा