DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चोरी का माल खरीदने वालों पर पुलिस फिदा

एक तरफ पटना पुलिस जहां अपराध नियंत्रण के लिए तरह-तरह का प्रयास कर रही है वहीं पुलिस अधिकारियों के इस प्रयास को कुछ थाने सीधे तौर पर अंगूठा दिखा रहे हैं। ताजा उदाहरण अगमकुआं थाने से जुड़ा है। आगरा (यूपी) के एत्माददौला थाना के एस आई सुरश चंद्र गौतम ने तीन जुलाई को अगमकुआं (पटना) को एक लिखित सूचना भेजते हुए अपने थाने में दर्ज एक प्राथमिकी (34108) के आरोपित पटना के ट्रांसपोर्ट नगर निवासी कबाड़ी दुकानदार पशुपति कुमार शर्मा को गिरफ्तार करने का आग्रह किया था।ड्ढr ड्ढr इस दुकानदार पर आगरा से चले एक ट्रक जिसपर 10 लाख 56 हाार रुपए मूल्य का सरसो तेल लदा था को गायब कर तेल खरीदने का आरोप था। यह घटना बीते चार जून की है। यूपी पुलिस की जांच में पाया गया कि जिस ट्रक (एचआर 38 एम 5084) पर यह माल लोड किया गया था उसपर फर्ाी नंबर था। बाद में पुलिस ने उस ट्रक को उसके ड्राइवर व धमौल गांव निवासी मो. साहेब को ट्रक सहित कुर्था (ाहानाबाद) में दबोच लिया। ट्रक अभी भी कूर्था थाना में जब्त है। ड्राइवर ने ही पुलिस को बताया कि फर्ाी नंबर के ट्रक पर माल लोड कर सामान को गायब करने वाला एक बड़ा गिरोह पटना के ट्रांसपोर्ट नगर में कार्यरत है। उसने इस गिरोह के एक सदस्य और पेशे से कबाड़ी पशुपति शर्मा का नाम बताया जिसके मेल से सरसो तेल को गायब किया गया था।ड्ढr ड्ढr अगमकुआं पुलिस ने शनिवार की रात पशुपति शर्मा को गिरफ्तार कर लिया। उसने बताया कि उसने ट्रांसपोर्ट नगर निवासी मनोज नामक व्यक्ित के सहयोग से तेल उसके गोदाम में उतार थे। देर रात पुलिस ने मनोज को भी गिरफ्तार कर लिया पर रविवार को उसे रहस्यमय तरीके से थाने से छोड़ दिया गया। बताया जाता है कि मनोज को छुड़ाने में भारी पैमाने पर लेन-देन हुई। इस संदर्भ में पूछे जाने पर सिटी एसपी अनवर हुसैन ने भी अनभिज्ञता प्रकट की। जब उन्हें हकीकत बतायी गई तो उन्होंने कहा कि मामले की छानबीन करायी जाएगी। बहरहाल लूट का माल खरीदने -बेचन वालों पर पुलिस की यह मेहरबानी ने पटना पुलिस को एक बहुत बड़े गिरोह के उद्भेदन से वंचित कर दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: चोरी का माल खरीदने वालों पर पुलिस फिदा