DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नेपाल में हिंदी विरोधी प्रदर्शन उग्र, 10 घायल

नेपाल के उपराष्ट्रपति परमानंद झा द्वारा हिन्दी में शपथ लेने के बाद देश में भड़का विरोध प्रदर्शन सोमवार को हिंसक हो गया। प्रदर्शनकारियों से पुलिस की भारी झड़प हुई, जिसमें करीब 10 लोग घायल हो गए। इस बीच खबर है कि सुप्रीम कोर्ट ने नवनिर्वाचित उप राष्ट्रपति झा को उनके द्वारा हिन्दी में शपथ लेने के विरोध में दायर याचिका पर सफाई देने का आदेश दिया है। एक निजी टीवी चैनल के अनुसार, काठमांडू के अमृत साइंस कॉलेज के पास छात्रों की पुलिस के साथ झड़प हो गई। इसमें छह छात्र, तीन पुलिसकर्मी और एक युवक घायल हो गया। झा उपराष्ट्रपति बनने से पहले मधेशी जनाधिकार फोरम से जुड़े थे, इसलिए प्रदर्शन फोरम के बानेश्वर स्थित दफ्तर पर भी हुआ। बाद में पुलिस ने हस्तक्षेप कर प्रदर्शनकारियों को वहां से बाहर निकाला। प्रदर्शनकारी प्रमुख सड़कों पर टायर के साथ ही झा का पुतला भी जला रहे थे। इस बीच, सत्ताधारी गठबंधन से जुड़े 8 छात्र संगठनों ने अपने को इन हिंसक विरोध प्रदर्शनों से अलग करने की घोषणा कर दी। एक प्रेस नोट जारी कर उन्होंने कहा कि वर्तमान संवदेनशील स्थिति को देखते हुए उन्होंने सभी विरोध कार्यक्रमों को स्थगित कर दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नेपाल में हिंदी विरोधी प्रदर्शन उग्र, 10 घायल