DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कैसे दें स्थायी रोचागार अफसर पसोपेश में

प्रदेश सरकार ने बेरोगारी भत्ता बंद करके स्थायी रोगार देने का वायदा किया था। अब बेरोगारी भत्ते के बदले में रोगार कैसे-कैसे दियाोा सकता है, इसको लेकर विभागों के अधिकारी मंथन मेंोुटे हैं। क्योंकि उन्हें शासन कोोवाब देना है। शासन को विधायकों की आश्वासन समिति को यहोवाब उपलब्ध कराना है कि उनके विभाग में रोगार की कौन सी योनाएँ चल रही हैं और कौन सी प्रस्तावित हैं? कई अधिकारियों के समझ में नहीं आ रहा कि रोगार सृान के क्या-क्या तरीके हो सकते हैं। ग्रामीणों को रोगार देने के लिए एक नरगा योना है, लेकिन वह भी केंद्र सरकार की है। इसके तहत भी किसी को स्थायी रोगार नहीं दियाोा सकता। सरकारी नौकरियों में सबको रोगार देना संभव नहीं है। अब स्वत:रोगार ही एक तरीका बचता हैोिसके तहत बेरोगारों को रोगार उपलब्ध करायाोा सकता है। लेकिन स्वत: रोगार की अधिसंख्य योनाएँ सफल नहीं होती हैं, क्योंकि उनमें बैंकों की भूमिका अच्छी नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कैसे दें स्थायी रोचागार अफसर पसोपेश में