DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सख्त पहरा-चौकस निगाहें

अहमदाबाद और बेंगुलुरु में सीरियल विस्फोट की घटनाओं को देखते हुए राजधानी रांची में चौकसी बढ़ा दी गयी है। इधर सामाजिक-व्यावसायिक संगठन भी पुलिस-प्रशासन के साथ मिल कर शहर में अमन-चैन का माहौल बरकरार रखने के लिए आगे आ रहे हैं। सोमवार को एसएसपी एमएस भाटिया और फेडरशन चैंबर के सदस्यों के बीच हुई बैठक में तय हुआ कि पुलिस चौकस रहेगी, तो व्यवसायी और नागरिक भी निगाहें खुली रखेंगे। पुलिस एंड चैंबर टुगेदर (पैक्ट) के अभियान को मजबूती देने के संकल्प के साथ सूचना तंत्र विकसित करने का निर्णय लिया गया। इसके लिए ‘मिशन सेवा झारखंड’ नामक कमेटी बनेगी, जिसमें व्यवसायी और नागरिक और स्वयंसेवी संगठनों के प्रतिनिधि शामिल रहेंगे।ड्ढr सूचना तंत्र को विकसित करने के लिए रांची को दस जोन में बांटा गया है। हर जोन की कमेटी में चार-चार व्यवसायियों और स्वयंसेवी संगठनों के प्रतिनिधियों को रखा गया है। किसी भी तरह की संदिग्ध गतिविधि की सूचना के आदान-प्रदान के लिए एसएमएस सिस्टम विकसित किया जायेगा। एसएमएस मिलते ही कमेटी के सदस्य एक्शन लेंगे और अपने इलाके के लोगों को सतर्क करंगे। तय किया गया कि शापिंग मॉल, शॉपिंग कांप्लेक्स, पार्क, मंदिर, बैंक, कचहरी सहित सभी प्रमुख स्थल, जहां अधिक लोगों का आना-ााना होता है, वहां खास तौर पर चौकसी बरती जायेगी।ड्ढr इस मुद्दे पर 30 जुलाई को चैंबर भवन में चार बजे से बैठक होगी। इसमें पुलिस अधिकारी और व्यवसायी शामिल होंगे। सोमवार को एसएसपी कक्ष में हुई बैठक में चैंबर अध्यक्ष मनोज नरडी, कानून व्यवस्था उप समिति के अध्यक्ष प्रतुल शाहदेव, पूर्व अध्यक्ष अजरुन प्रसाद जालान, अरुण बुधिया, सह सचिव विनय अग्रवाल, अजय सरावगी, पवन शर्मा, रांीत गाड़ोदिया, अरविंदर सिंह, सोनी मेहता, हरित नागपाल और टिंकू भगत शामिल थे।ड्ढr हवाई अड्डे पर चौकसी बढ़ीड्ढr रांची हवाई अड्डे पर सुरक्षा बढ़ा दी गयी है। यहां आनेवाले सभी वाहनों और यात्रियों की गहन चेकिंग जिला पुलिस और सीआइएसएफ द्वारा की जा रही है। हवाई अड्डा परिसर में भी पुलिस बल की संख्या बढ़ा दी गयी है। पार्किंग स्थल के बाहर वाहनों को नहीं खड़ा करने दिया जा रहा है। कार्गो में भेजे जानेवाले माल की स्क्रीनिंग की जा रही है।ड्ढr उधर स्टेट हैंगर पर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कराने के लिए चीफ पायलट ने नागर विमानन विभाग के प्रधान सचिव को पत्र लिखा। चीफ पायलट अजय श्रीवास्तव ने लिखा है कि स्टेट हैंगर से वाआइपी उड़ानें होती हैं। यहां पुलिस का खास इंतजाम नहीं होने के कारण सामान्य लोग बेरोकटोक चले आते हैं। सामान्य और वीआइपी के साथ आनेवाले लोगों को पास निर्गत होने पर ही प्रवेश की अनुमति दी जाये।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सख्त पहरा-चौकस निगाहें