DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजरंग

ा होइ हो रामा..अपने हनी भइया आजकल थोड़ा उदास दिख रहल हैं। का है कि जब सब कुछ ठीक-ठाक नय रहता है तो मनवा थोड़ा उदास होइये जाता है। सेंटर को बचाने के लिए उ का नहीं किये। रांची-दिल्ली एक करके रख दिये। तन, मन लगाकर पूरा काम किये। उसके आगे का होता है, उ भी किये। किसी तरह से सेंटर तो सेफ हो गया। अब थोड़ा इत्मीनान की सांस ले रहे थे कि अपने गुरुाी दिल्ली से रांची आ गये। हिंया तक तो ठीके था। अब गुरुाी की पार्टी के चेलवन की नजर पता नय काहे हनी ब्रदर की कुर्सिया पर जम गयी। अचानक इ चेंज हनी ब्रदर को नय बुझा रहा है। यही बतवा से उ थोड़ा उदास हो गये हैं। इ कुर्सिया तो गुरु के आशीर्वाद से भेंटाया है। अब वही गुरु नजरवा फेर लेंगे तो हनी ब्रदर को कैसे अच्छा लगेगा? अब का है कि गुरुाी बड़का खिलाड़ी हैं। सेंटर में खेलते हैं और स्टेट में खेलाते हैं। उ तो सबका खयाल रखते हैं। हनी ब्रदर भी तो उनके बेस्ट चेला में गिनाते हैं। आखिर इ सब तो देखना ही होगा न। अब हरसठे कोई कइसे कह देगा कि कुर्सिया छोड़ दीजिये। यही सब देख-सुनकर ब्रदर का मूड तनिक गड़बड़ाया हुआ है। पब्लिक कहल रहय- का होइ हो रामा. . ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राजरंग