DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नक्षत्रों की मानें, तो गुरुचाी को करना होगा इंतजार

या गुरुाी झारखंड के मुख्यमंत्री बनेंगे? अगर एसा हुआ तो फिर मधु कोड़ा का क्या होगा? झारखंड की राजनीति में आज यह लाख टके का सवाल है। झामुमो सुप्रीमो शिबू सोरन और झारखंड के मुख्यमंत्री मधु कोड़ा की कुंडली में ग्रहों की चाल पर प्रदेश के जाने-माने ज्योतिषियों की राय इस प्रकार है:ड्ढr ज्योतिषी डॉ एनके बेरा के अनुसार वर्तमान में शनि और मंगल की युति चल रही है। यह संयोग झामुमो सुप्रीमो शिबू सोरन के लिए अनुकूल नहीं है। गुप्त विरोधी अचानक सक्रिय हो उठेंगे। उन्हें अलग-अलग तरह का प्रलोभन देकर महत्वपूर्ण पद प्राप्त करने से वंचित करने की कोशिश करंगे। उनके लिए झारखंड में पद प्राप्त करना आसान नहीं होगा।ड्ढr ज्योतिषी और तांत्रिक सुनील बर्मन के अनुसार, शिबू जी की सही कुंडली उपलब्ध नहीं है। बिना कुंडली के सटीक बात कह पाना संभव नहीं। फिर भी नाम के आधार पर देखें, तो मधु कोड़ा की राशि सिंह है। इस वक्त सिंह राशिवालों पर शनि की साढ़ेसाती चल रही है। इस लिए मधु कोड़ा के लिए यह संकट का समय है। शिबू सोरन की राशि कुंभ है। इस वक्त उनके ग्रह सकारात्मक प्रभाव दिखाने में सक्षम हैं। संभावना है कि झारखंड की राजनीति में वह एक बार फिर से उभरं। वह अपना दबदबा कायम करने में सफल होंगे, ग्रह ऐसे संकेत दे रहे हैं। राजनीतिक उथल-पुथल के संकेत हैं, जिसमें मधु कोड़ा के लिए स्थिति उतनी अनुकूल नहीं दिखाई पड़ती।ड्ढr हाारीबाग में दर्शनशास्त्र के प्राध्यापक और ज्योतिषी राजन विश्वकर्मा के अनुसार गणना के हिसाब से मधु कोड़ा की कुर्सी को फिलवक्त कोई खतरा नहीं है। वह अपने पद पर बने रहेंगे। शिबू सोरन की ग्रह-दशा कुछ नकारात्मक संकेत दे रही है। उनकी स्थिति अभी डांवाडोल ही रहेगी। उन्हें भले ही केंद्र में कोई महत्वपूर्ण पद मिल जाये, पर झारखंड में उनकी स्थिति वर्तमान से बेहतर होने की संभावना कम ही है।ड्ढr ज्योतिषी बीरंद्र कुमार गुप्ता के अनुसार 26 अगस्त, 2008 तक का समय मधु कोड़ा के लिए संकटपूर्ण है, पर अपनी सूझबूझ और सहयोगियों की मदद से कोड़ा अपनी गद्दी बचाने में सफल रहेंगे। अप्रैल 200े बाद ही उनके मुख्यमंत्रित्व पर कोई खतरा आ सकता है। जहां तक शिबू सोरन की बात है, तो उनके केंद्र में मंत्री बनने की ही संभावना ज्यादा है। झारखंड में अभी उनके मुख्यमंत्री बनने की संभावना कम दिखाई पड़ती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नक्षत्रों की मानें, तो गुरुचाी को करना होगा इंतजार