अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विभाग का ताला तोड़ रामजतन को चार्ज सौंपा

पिछले 15 दिनों से चल रहे ड्रामे का मंगलवार को पटाक्षेप हो गया। पटना विवि प्रशासन ने रसायनशास्त्र विभाग का ताला तोड़ दिया और विधिवत तरीके से रामजतन सिन्हा को विभागाध्यक्ष का चार्ज सौंप दिया। पूर्व विभागाध्यक्ष डा. धर्मप्रकाश को विश्वविद्यालय अधिनियम (2008) के तहत व राजभवन के आदेश के बाद पटना विवि प्रशासन ने उनके स्थान पर डा. सिन्हा को विभाग का अध्यक्ष बनाया था। 14 जुलाई को प्रो. सिन्हा को विभागाध्यक्ष नियुक्त किया था पर हेडशिप का चार्ज नहीं दिया गया था। विवि प्रशासन द्वारा बनाई गई पांच सदस्यीय कमेटी ने मंगलवार को रसायनशास्त्र विभाग का ताला तोड़ा।ड्ढr ड्ढr विवि प्रशासन द्वारा गठित कमेटी में कुलसचिव विभाष यादव, पूटा के महासचिव रणधीर कुमार सिंह, सायंस कॉलेज के प्राचार्य डा. एस एन गुहा, कुलानुशासक रास बिहारी सिंह व प्रो. दीपक शर्मा के समक्ष विभाग के सभी कीमती सामानों को बंद कर दिया। कमेटी के सदस्यों ने बताया कि जो जेनरल समान है उसको उसी तरह रहने दिया गया है। विवि प्रशासन व राजभवन के आदेश के बावजूद डा. धर्मप्रकाश नोटिस की अवहेलना कर रहे थे। उधर डा. धर्मप्रकाश का कहना है कि प्रो. रामजतन सिन्हा ने उनकी अनुपस्थिति में विभाग का ताला तोड़ दिया है। उन्होंने बताया कि इसकी लिखित सूचना पीरबहोर थाने में भी दी है। जबकि थानाध्यक्ष प्रभारी एसए हाशमी ने इस संबंध में किसी तरह की सूचना से इनकार किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: विभाग का ताला तोड़ रामजतन को चार्ज सौंपा