DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दूसरे चरण में और पुख्ता इंतजाम : चुनाव आयोग

प्रथम चरण के चुनाव में नक्सली उत्पात और हिंसा की घटनाओं को लेकर उठे सवाल पर चुनाव आयोग गंभीर है। चुनाव आयुक्त नवीन चावला ने दूसर चरण के मतदान में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम का भरोसा दिलाया है। चुनाव आयुक्त ने स्वीकार किया कि मतदान के पहले चरण में हिंसक घटनाएं हुई हैं लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि चुनाव आयोग फेल हुआ है। बिहार में पहले चरण में हुई गड़बड़ी को लेकर पुनर्मतदान के मुद्दे पर चुनाव आयोग सोमवार को निर्णय लेगा। दूसर चरण के मतदान के अंतिम 48 घंटों में पूरी रात पेट्रोलिंग का निर्देश दिया गया है। उन्होंने राजधानी में संवाददाता सम्मेलन में कहा कि लालू प्रसाद और राबड़ी देवी के बयान के मामले में चुनाव आयोग ने अपनी अप्रसन्नता जाहिर कर दी है और अब यह प्रकरण समाप्त समझा जाना चाहिए। चावला ने दूसर चरण के मतदान को लेकर तिरहुत और दरभंगा प्रमंडल के अधिकारियों के साथ तैयारियों का जायजा लिया। उनके साथ मुख्य निर्वाचन अधिकारी सुधीर कुमार राकेश भी थे। तैयारियों से वे पूरी तरह संतुष्ट दिखे। राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से बात करने के बाद अधिकारियों को उन्होंने कई टास्क भी दिए हैं। श्री चावला ने कहा कि बूथ कैप्चरिंग की कोई भी घटना बर्दाश्त नहीं की जाएगी। ऑब्जर्वर को इस मामले में तत्काल रिपोर्ट करने की हिदायत दी गयी है। पहले चरण में पांच जगहों पर ईवीएम छीनने की घटना पर नाराजगी जताते हुए श्री चावला ने संबंधित आईजी और डीआईजी से शनिवार की रात 12 बजे तक आयोग को रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया है। चुनाव आयुक्त ने कहा कि देश भर में पहले चरण में हिंसा की एक सौ से कम घटनाएं हुई हैं और इसमें 20 लोगों की मौत हुई है। 46 लोग घायल हुए हैं और 270 बूथों पर गड़बड़ी की गई। चावला ने पुलिस अधिकारियों को गैरजमानती वारंटियों की गिरफ्तारी और अवैध हथियार की जब्ती की डेली रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया। साथ ही दबंग और प्रमुख उम्मीदवारों की गतिविधियों की वीडियो फिल्म तैयार करने का निर्देश दिया। ऑब्जर्वर को कहा गया कि वीडियो में कोई भी विवादास्पद फुटेज हो तो तत्काल आयोग को भेजें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दूसरे चरण में और पुख्ता इंतजाम:चुनाव आयोग